सरकार को राकेश टिकैत की चेतावनी, फसल कटाई तक मांग नहीं हुई पूरी तो खड़ी फसल में लगा देंगे आग

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजियाबाद। कृषि कानून की वापसी को लेकर बड़ी संख्या में किसान गाजियाबाद के यूपी गेट बॉर्डर पर धरने पर बैठे हुए हैं। आंदोलन की अगुवाई भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्त राकेश टिकैत कर रहे हैं। 10 से भी ज्यादा बार सरकार और किसानों के बीच सामंजस्य बैठाए जाने का प्रयास किया जा चुका है, लेकिन सभी बैठक विफल रहीं और कोई नतीजा नहीं निकल पाया। अब किसान अपने आंदोलन को लगातार तेज करते जा रहे हैं। गुरुवार को किसान नेता राकेश टिकैत के आह्वान पर गाजियाबाद में भी रेल रोको अभियान चलाया गया। इस बीच राकेश टिकैत ने चेतावनी दी है कि अगर फसल कटाई के समय तक सरकार ने किसानों की मांग पूरी नहीं की तो वह खड़ी फसल में आग लगा देंगे।

यह भी पढ़ें: दिल्ली-हावड़ा रुट पर रेल रोकने पहुंचे किसानों को फोर्स ने रोका, स्टेशन छावनी में तब्दील

बता दें कि गुरुवार को गाजियाबाद में तीन जगह रेल रोके जाने के पॉइंट बनाए गए थे। उधर प्रशासन ने सभी जगह भारी पुलिस बल तैनात किया गाजियाबाद के 2 पॉइंट पर पुलिस फोर्स और यात्रियों के अलावा एक भी किसान नजर नहीं आया। लेकिन मोदीनगर में किसान बड़ी संख्या में रेलवे स्टेशन पहुंचे और रेलवे लाइन पर लेट कर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान करीब डेढ़ घंटे तक रेल यातायात बाधित रहा सभी ट्रेन को पीछे ही रोक दिया गया था। किसानों ने 2 बजे के करीब रेल रोको अभियान शुरू किया और सभी पटरी पर लेट गए और 3:35 पर एसडीम को ज्ञापन सौंपा।

यह भी देखें: खुद के खिलाफ निकले गैर जमानती वारंट पर बोले संजय सिंह

इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए एसडीएम संजय सिंह ने बताया कि किसानों के द्वारा रेल रोके जाने के लिए आध्यात्मिक नगर हाल्ट पर किसानों के पहुंचने की सूचना थी। उससे पहले ही स्थानीय पुलिस द्वारा आसपास के सभी किसानों और उनके नेताओं से बात कर सामान्य से बनाया। जिसके चलते यहां किसानों को नहीं आने दिया गया। हालांकि सुरक्षा की दृष्टि से स्थानीय पुलिस के अलावा पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान भी तैनात किए गए ।