मेधावी बेटियों के नाम पर होगा गांवों के तालाबों का नामकरण, महिला सशक्तिकरण को मिलेगा बल

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस यानी 8 मार्च को हर जिले की ग्राम सभा में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा 2020 में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाली मेधावी बेटियों के नाम से गांव के तालाबों का नामकरण किया जाएगा। वहीं पात्र गरीब एवं असहाय महिलाओं को आवासीय पट्टे के अभिलेख वितरित किए जाएंगे। राजस्व विभाग ने महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन के लिए संचालित मिशन शक्ति के विशेष अभियान के लिए दिशा निर्देश जारी किए हैं। इससे प्रदेश महिला सशक्तिकरण को बल मिलेगा। राजस्व विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार के मुताबिक 26 फरवरी से 8 मार्च तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 26 से 28 फरवरी तक ग्राम स्तर पर महिला सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन विषय पर गोष्ठी आयोजित की जाएगी। 1 से 3 मार्च तक ब्लॉक स्तर, 4-5 मार्च को तहसील स्तर और 6-7 मार्च को जिलास्तर पर गोष्ठी एवं जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

इसके साथ ही राजस्व विभाग की अपर मुख्य सचिव का कहना है कि पात्र गरीब व असहाय महिलाओं को आवासीय पट्टा देने की कार्यवाही पूरी कर 8 मार्च चयनित महिला पट्टेदारों को पट्टा अभिलेख का वितरण किया जाएगा। तहसील स्तर पर विशिष्ट उपलब्धि हासिल करने वाली 5 महिलाओं को 8 मार्च को सम्मानित किया जाएगा। 8 मार्च को हर जिले में महिलाएं अपनी बेटियों के नाम से वृक्षारोपण किया जाएगा। जिससे महिला को महिला सशक्तिकरण के बल का अहसास होगा।

इसके साथ ही सभी बेटियों और महिलाओं को मिशन शक्ति अभियान के बारे में पूरी जानकारी देते हुए जागरूक किया जाएगा। जिससे सभी बिटियां और महिलाएं अपने को सुरक्षित महसूस कर सकें। ताकि वह अपने अधिकार के रूप में संचालित योजनाओं का लाभ ले सकें और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, टोल फ्री नंबर 1090, 1098, 112 तथा बाल विवाह रोकथाम के बारे में जानकारी दी जाएगी।

ये भी पढ़ें - अयोध्या की तर्ज यूपी के 15 जिलों का विकास कराएगी योगी सरकार, 31 मई तक मांगी समग्र रिपोर्ट

एक वर्ष की अवधि के लिए लगेगा छात्रा के नाम का बोर्ड

प्रदेश के हर जिले में ग्रामसभा में हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाली छात्रा के नाम पर एक तालाब का नामकरण किया जाएगा। तालाब पर छात्रा के नाम का बोर्ड एक वर्ष की अवधि के लिए लगाया जाएगा। तालाब का सौंदर्यीकरण मनरेगा के माध्यम से किया जाएगा। वरासत अभियान के दौरान दर्ज महिला खातेदारों, महिला सह खातेदारों को 8 मार्च को खतौनी की नकल का नि:शुल्क वितरण किया जाएगा। उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला राजस्व कर्मियों को भी महिला दिवस पर सम्मानित किया जाएगा।