मिट्टी की ढांग के नीचे दबकर मजदूर की मौत, परिजनों ने पुलिस पर बोला हमला, भागकर बचाई जान

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। मिट्टी की ढांग गिरने से एक मजदूर की मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस टीम को मजदूर के परिजनों और ग्रामीणों ने घेरकर दौड़ा लिया। लोगों के हमले से डरे पुलिसकर्मियों ने भागकर जान बचाई और थाने फोन कर इसकी जानकारी दी। इसके बाद थाने से अतिरिक्त फोर्स पहुंचने के बाद ही पुलिस टीम गांव के भीतर प्रवेश कर सकी। दरअसल, घटना थाना बहसूमा के कस्बे की है। जहां पर देर रात कुएं से ईंटे निकालने के दौरान मिट्टी की ढांग गिरने से एक मजदूर की मौत हो गई। सूचना पर पहुची पुलिस ने जेबीसी मंगाकर ढांग में दबे युवक को निकालने की कोशिश की। लेकिन मजदूर की मौत की खबर सुनकर परिजनों और ग्रामीणों ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया। इससे मौके पर अफरा तफरी का माहौल बन गया। अतिरिक्त फोर्स मंगाने के बाद पुलिस ने शव को निकलवाकर शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

यह भी पढ़ें: आखिर एक गांव में क्यों डेरा डाले हैं 19 दरोगा और 100 सिपाही, पढ़िए रोंगटे खड़े कर देने वाली बबुरहा गांव की कहानी

जानकारी के अनुसार क्षेत्र के मोड़ खुर्द निवासी विकास व आसिेफ गांव के ही प्रविंद्र के खेत में ट्यूबवैल के कुएं से बारी ईंटें निकालने का काम कर रहे थे। इसी दौरान विकास कुएं के अंदर से ईंटें निकालने गया तो अचानक मिट्टी की ढांग गिर गई जिससे वह नीचे दब गया। हादसे के बाद कुएं की उपर की ओर खड़े आसिफ ने शोर मचा दिया। खेत मालिक प्रविंद्र ने फोन कर पुलिस को मामले की जानकारी दी।

यह भी देखें: विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले हुआ हंगामा

थानाध्यक्ष शिवदत्त पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे तथा दो जेसीबी लगाकर मिट्टी हटाकर मजदूर को निकालने का प्रयास किया लेकिन इसी दौरान मौके पर पहुंची भीड़ ने शोर मचाते हुए पुलिस टीम पर हमला कर दिया। गुस्साई भीड़ ने पुलिस वाहन में भी तोड़फोड़ कर दी। सूचना पर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। सीओ मवाना उदय प्रताप भी मौके पर पहुचे तथा दोबारा कड़ी मशक्कत के घंटो बाद जैसे तैसे मिटटी मे दबे विकास को निकाला। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चकी थी। पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम भिजवाया।