आज से वाहनों पर FASTag हुआ अनिवार्य, नहीं लगाने पर देना होगा दोगुना टोल टैक्स

गोरखपुर. यूपी में अब बिना फास्टैग (FASTag) टोल प्लाजा से गुजरने वालों को अब डबल टोल देना होगा। यह नियम सोमवार रात 12 बजे से लागू कर दिया गया है। टोल प्लाजा पर अब कैश लेन देन नहीं होगा। शेरपुर चमराह टोल प्लाजा पर सोमवार की रात 12 बजे से फास्टैग की अनिवार्यता को लेकर तैयारी कर ली गई है। यहां फास्टैग स्टाल भी लगाया गया है। टोल प्लाजा मैनेजर बीके त्रिपाठी ने बताया कि लोकल वाहन स्वामियों को भी फास्टैग और रिचार्ज करने को लेकर जागरूक किया जा रहा है। दरअसल, एनएचआई द्वारा डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने के लिए 15 फरवरी की रात 12 बजे से सभी गाड़ियो में फास्टैग से टोल लेना अनिवार्य कर दिया गया है। अभी तक बिना फास्टैग वाली गाड़ियों के लिए एक-एक कैश लेन चलाया जा रहा है लेकिन सोमवार की रात में 12 बजे के बाद से कैश वाला लेन बंद कर दिया जाएगा।

क्या है फास्टैग

फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है। इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) का इस्तेमाल होता है। फास्टैग रिचार्ज होने वाला प्रीपेड टैग है जो आपको अपनी गाड़ी के विंडशील्ड पर अंदर की तरफ से लगाना पड़ता है।

कैसे काम करता है फास्टैग

जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा के पास आती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेता है। इसके बाद आपके फास्टटैग अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क कट जाता है। इस तरह आप टोल प्लाजा पर रुके बगैर शुल्क का भुगतान कर पाते हैं।

ये भी पढ़ें: सपा में साजिश करने वाले लोगों की वजह से भाजपा हुई मजबूत: शिवपाल सिंह यादव

ये भी पढ़ें: अब लिया जाएगा पानी का भी हिसाब, इन 10 जिलों के नगर निगम देंगे रिपोर्ट