Ram Mandir : मंदिर निर्माण में उतरेंगे वर्करों की फौज, किसको कहाँ रुकने की बनी व्यवस्था

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
अयोध्या. राम मंदिर (Ram Mandir) की नींव भरे जाने के लिए 400 वर्कर और सुपरवाइजर तैनात किए जाएंगे। इस दौरान उनके रुकने की व्यवस्था बनाई जा रही है। ट्रस्ट के मुताबिक नींव की खुदाई का कार्य पूरा होने के साथ जल्द ही वर्करों की टीम अयोध्या पहुंचेंगी।

राम मंदिर निर्माण के लिए मार्च के आखिरी सप्ताह में मंदिर के नींव का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। जिसके लिए बड़ी संख्या में वर्करों की टीम लगाई जाएगी। ट्रस्ट के मुताबिक मन्दिर निर्माण के लिए लगभग 400 वर्कर और सुपरवाइजर लगाए जाएंगे। और मंदिर निर्माण की प्रक्रिया लंबे समय तक चलेगा इसलिए सभी वर्करों के लिए मूलभूत सुविधा युक्त आवास बनाये जा रहे हैं। जिसके लिए परिसर के पास की स्थल को चिन्हित किया गया था। ट्रस्ट के मुताबिक सुपरवाइजरों के लिए रामकोट क्षेत्र में आमावा मंदिर के सामने रुकने की व्यवस्था व वर्करों के लिए पूर्व सांसद विनय कटियार के आवास के पास सुरक्षा संबंधित व्यवस्था के तहत बनाई गई है।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य डॉ अनिल मिश्रा ने कहा कि मंदिर निर्माण में एलएन्डटी के साथ काम करने वाले मजदूरों पत्थरों के साथ काम करने वाले कारीगर और इन सब को देखने वाले सुपरवाइजर बड़ी मात्रा में आवश्यकता राम मंदिर निर्माण के दरमियान पड़ेगी मंदिर निर्माण की तैयारियों के बीच एक साथ सभी कार्य को समांतर रखा गया है। वही कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए नींव भरे जाने के लिए मिर्जापुर का और मंदिर निर्माण में बंसीपहाड़पुर के पत्थर का इस्तेमाल होगा।

यह भी पढ़े : मंदिर निर्माण में अब तक का सबसे बड़ा अपडेट