मिशन चुनाव पर पीएम मोदी : बंगाल में करेंगे 20 रैलियां, असम में भी होंगी 6 रैलियां

5 राज्यों में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है. भाजपा ने भी इन चुनावों में जीत दर्ज करने के लिए अपनी जान लगा दी है. हालाँकि भाजपा का सबसे ज्यादा जोर पश्चिम बंगाल और असम पर है. असम में उसे सत्ता बचानी है जबकि बंगाल में पहली बार सत्ता पर कब्ज़ा जमाने के लिए बीजेपी उतावली है. पश्चिम बंगाल तो पार्टी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. जिस तरह से पार्टी ने पिछले 5 सालों में राज्य में अपनी पकड़ बनाई है उससे वो सत्ता की प्रबल दावेदार बन गई है. उसकी ये दावेदारी हकीकत में बदल सके इसलिए पीएम नरेंद्र मोदी राज्य में 20 चुनावी जनसभाएं करेंगे. जबकि पडोसी राज्य असम में उनकी 6 चुनावी जनसभाएं प्रस्तावित है.

पश्चिम बंगाल और असम में पीएम मोदी की जबरदस्त मांग है. इसलिए पार्टी ने उनकी रैलियों की योजनायें इस तरह बनाई है जिससे वह इन दोनों ही राज्यों को ज्यादा से ज्यादा कवर कर सकें. पीएम मोदी 7 मार्च को कोल्कता के ब्रिगेड मैदान में अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित करेंगे. इस दिन बीजेपी की परिवर्तन रथ यात्राओं का ब्रिगेड मैदान में ही समापन हो रहा है.

पीएम मोदी के अलावा यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के रैलियों की भी पश्चिम बंगाल में भाजपा के स्थानीय कार्यकर्ता भारी मांग कर रहे हैं. पीएम मोदी के बाद पार्टी के दूसरे स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ही है. इनके अलावा गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा नजी राज्य में कई रैलियों को संबोधित करेंगे.