प्रियंका, केजरीवाल और जयंत की राह पर अखिलेश, 2022 के लिए बनाया ये मास्टरप्लान

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. कृषि कानूनों (Farm Laws) को लेकर सपा (Samajwadi Party) ने किसानों के बीच 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर जमीनी तैयारी शुरू कर दी है। रालोद, आप और कांग्रेस के बाद अब सपा ने भी पश्चिम उत्तर प्रदेश (West Uttar Pradesh) से इसकी शुरूआत की है। इस कड़ी में शुुक्रवार को पश्चिमी यूपी की पहली समाजवादी पार्टी की किसान महापंचायत अलीगढ़ में होने जा रही है। महापंचायत पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) शामिल होंगे। सपाई महापंचायत की तैयारी में देर शाम तक जुटे रहे। इस किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) का आयोजन टप्पल इंटरचेंज पर किया जा रहा है। खुद सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव महापंचायत में कृषि बिल को लेकर किसानों को संबोधित करेंगे। वह सैफई से सड़क मार्ग होते हुए टप्पल इंटरचेंज पर महापंचायत को संबोधित करेंगे।

यह भी पढ़ें- पंचायत चुनाव में अराजकता बर्दाश्त नहीं : मेनका गांधी

बता दें कि प्रियंका गांधी, जयंत चौधरी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल वेस्ट यूपी में किसान महापंचायत कर किसानों को अपने पक्ष में करने का प्रयास कर रहे हैं। इसी कड़ी में अब अखिलेश यादव भी महापंचायत के जरिये किसानों का दिल जीतना चाहते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की महापंचायत में हर धर्म और जाति के प्रतिनिधि को मंच पर स्थान दिए जाने पर जोर दिया गया है, ताकि पार्टी से सभी काे जोड़ा जा सके। सपा जिलाध्यक्ष राजपाल चौधरी ने बताया कि पूर्व सीएम अखिलेश यादव किसानों के समर्थन में प्रदेश में पहली बार किसानों की महापंचायत को संबोधित करने अलीगढ़ पहुंच रहे हैं। पूरे देश के किसान मोदी सरकार के द्वारा थोपे गए तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। सपा हरेक किसान के साथ खड़ी है। किसानों का कोई धर्म या जाति नहीं होती है। किसान सिर्फ किसान है।

उन्होंने बताया कि अलीगढ़ के बाद मेरठ में भी सपा की महापंचायत की तैयारी चल रही है। इसके लिए अखिलेश यादव ने फीड बैक मांगा है। सपाई किसान महापंचायत की तैयारी में जुटे हैं। अभी स्थान और तिथि का निश्चित नहीं है। स्थान और तिथि निश्चत होते ही तैयारियां और जोर पकड़ेगी।

यह भी पढ़ें- आजम खान को फिर बड़ा झटका, चुनाव आयोग के आदेश पर बेटे अब्दुल्ला के खिलाफ FIR दर्ज