यूपी ग्राम पंचायत चुनाव का 24 से 26 मार्च के बीच होगा ऐलान, सभी दल उतारेंगे अपने प्रत्याशी

लखनऊ. यूपी ग्राम पंचायत चुनाव के लिए सरकार के साथ-साथ राजनीतिक पार्टियों ने अपने मुश्कें कस ली हैं। यूपी में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की घोषणा 24 से 26 मार्च के बीच होने की संभावना है। यूपी राज्य निर्वाचन आयोग, प्रदेश में 75 जिला पंचायतों, 826 विकास खंडों और 58,194 ग्राम पंचायतों के चुनाव चार चरण में कराने की तैयारी कर रहा है। आयोग की कोशिश है कि 30 अप्रैल तक चुनाव खत्म करा दिए जाएं। वहीं दूसरी तरफ जहां भाजपा 15 मार्च को प्रदेश कार्यसमिति की प्रस्तावित बैठक में पंचायत चुनाव पर फोकस करते हुए चुनावी रणनीति को अंतिम स्वरूप प्रदान करने वाली है वहीं बसपा ने अपनी रणनीति फाइनल कर दी है।

यूपी में कोरोना वैक्सीन लगवाएं और भारी इनाम पाएं

यूपी में 75 जिलों में कुल 58,194 ग्राम पंचायतों में प्रधान व ग्राम पंचायत सदस्य 7,31,813 निर्वाचित होंगे। 826 विकास खंडों में क्षेत्र पंचायत व 75 जिला पंचायत अध्यक्षों के अलावा कुल 8,10,719 ग्राम, क्षेत्र व जिलों में वार्ड सदस्य पदों के लिए चुनाव होंगे। प्रदेश में जिला पंचायत अध्‍यक्ष के लिए 27 जिला पंचायत अध्यक्ष सीट अनारक्षित श्रेणी से होंगे, जबकि 48 आरक्षित। इनमें अनुसूचित जाति की 16 (6 महिला), पिछड़ी जाति की 20 (7 महिला) और 12 सीटें सामान्य महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी। जिला पंचायत अध्‍यक्ष के लिए सभी वर्गों की मिलाकर महिलाओं के लिए कुल 25 सीटें आरक्षित की गई हैं।

22 मार्च तक आयोग को मिलेगी आरक्षण की फाइनल लिस्ट :- त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव में आरक्षण को लेकर आपत्तियां निस्तारण कार्य बुधवार से शुरू हो जाएगा। इस हिसाब से तयशुदा कार्यक्रम के तहत काम किया गया तो संभावना है कि पंचायत चुनाव के लिए आरक्षण की फाइनल लिस्ट 22 मार्च तक आयोग को मिल जाएगी। जिसके बाद इस लिस्ट को जिला निर्वाचन अधिकारियों को भेजा जाएगा। इसके बाद आयोग, पंचायती राज विभाग को चुनाव कराने का प्रस्ताव भेजेगा। इसके बाद पंचायती राज विभाग पहली अधिसूचना जारी करेगा। अगले दिन निर्वाचन आयोग पंचायत चुनावों की तारीखों का ऐलान और आचार संहिता लागू होने की घोषणा करेगा। यानि की पूरी संभावना है कि 24 से 26 मार्च के बीच पंचायत चुनाव की घोषण हो जाए।

19 मार्च को यूपी सरकार चार वर्ष होंग पूरे :- गौर करने की बात है कि 19 मार्च को यूपी सरकार के चार वर्ष पूरे होने वाले हैं। इस उपलक्ष्य में प्रत्येक जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में सरकार की उपलब्धियों का प्रचार प्रसार किया जाएगा। आयोग के अधिकारी ने बताया है कि, चार चरण में चुनाव कराए जाएंगे। प्रत्येक चरण में 3 से 4 दिन का अंतर होगा। पहली बार एक चरण एक जिला की पद्धति से प्रत्येक जिले में एक ही चरण में चुनाव कराया जाएगा।

सभी दल तैयारियों में जुटे :- इस बार के पंचायत चुनाव में यूपी के लगभग सभी दल चुनाव में अपनी हकीकत आंकना चाहते हैं। सभी तैयारियों में जुटे हैं। सतारूढ़ दल भाजपा, विपक्षी दल बसपा, सपा, कांग्रेस के अतिरिक्त छोटे दल भी इस चुनाव को विधानसभा चुनाव 2022 का सेमीफाइनल मानकर तैयारी कर रहे हैं। भाजपा 15 मार्च को बैठक करेगी और उसमें अपनी रणनीति को फाइनल करेगी तो बसपा ने संगठन में फेरबदल जिला पंचायत सदस्य पद के प्रत्याशियों का नाम मुख्य सेक्टर प्रभारी फाइनल करने की जिम्मेदारी सौंपी है।