24 अप्रैल से नहीं होगी यूपी बोर्ड परीक्षा, होली के बाद घोषित होगी नई डेटशीट

लखनऊ. यूपी बोर्ड परीक्षा (UP Board Exams) की परीक्षा 24 अप्रैल से न होकर मई में आयोजित कराई जा सकती है। पंचायत चुनाव (Panchayat Chunav) की अधिसूचना जारी होने के बाद उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं अब अप्रैल में नहीं कराई जाएगी। चुनावी बिगुल बजने के साथ ही नई स्कीम बनाने का काम शुरू हो गया है। उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा है कि पंचायत चुनाव के कारण यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाएं अब 24 अप्रैल से शुरू नहीं होंगी। दो मई को पंचायत चुनाव की मतगणना के बाद ही परीक्षा कराने की तारीख तय की जाएगी। होली के बाद 30 मार्च को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ इस मामले पर बैठक होगी। उसके बाद नई स्कीम जारी कर दी जाएगी।

मई के पहले हफ्ते में शुरू हो सकती है परीक्षाएं

24 अप्रैल से 12 मई के बीच यूपी बोर्ड परीक्षाएं आयोजित कराई जानी थी। लेकिन अब उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के बयान के बाद यह माना जा रहा है कि मई के पहले हफ्ते में यूपी बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो सकती हैं। पहले जारी हुए टाइमटेबल में जिस विषय की परीक्षा जिस क्रम में तय हुई थी, वही क्रम बाद में भी फॉलो किए जाने की उम्मीद है। यानी हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों में हिंदी व प्रारंभिक हिंदी विषय की परीक्षा से ही शुरुआत हो सकती है।

56,03,813 विद्यार्थी पंजीकृत

इस बार कुल 56,03,813 विद्यार्थी परीक्षा देंगे। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए कुल 56,03,813 विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया है। इसमें हाइस्कूल के 29,94,312 और इंटरमीडिएट के 26,09,501 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। दोनों परीक्षाओं में कुल 31,47,793 बालक और 24,56,020 बालिकाएं पंजीकृत हैं। हाईस्कूल परीक्षा में 16,74,022 बालक व 13,20,290 बालिकायें पंजीकृत हुई हैं। इसी तरह इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा में 14,73,771 बालक व 11,35,730 बालिकायें कुल 26,09,501 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए हैं।

ये भी पढ़ें: बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों के परीक्षा की तारीख घोषित, रिजल्ट के बाद सभी होंगे प्रमोट

ये भी पढ़ें: यूपी में इस साल 8वीं तक के बच्चों की नहीं होगी वार्षिक परीक्षा, असेसमेंट के आधार पर घोषित होंगे रिजल्ट