पश्चिम बंगाल की 30 और असम की 47 सीटों पर आज पहले चरण का मतदान, सुरक्षा के कड़े इंतजाम, इस बार मतदान का समय बढ़ाया गया है

असम और पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए आज पहले चरण का मतदान है. असम की 47 सीटों और पश्चिम बंगाल की 30 के लिए आज वोट डाले जा रहे हैं. चुनाव आयोग ने इस बार वोट डालने का समय बढ़ा दिया है. बंगाल में पहले चरण का मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6:30 बजे तक चलेगा. वहीं, असम में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान होगा. सुबह से ही मतदान केन्द्रों पर लंबी कतारें लगनी शुरू हो गई है. पश्चिम बंगाल में जिन 30 सीटों पर मतदान होना हैउनमे पटाशपुर, भगवानपुर, खेजुड़ी, कांथी उत्तर, कांथी दक्षिण, एगरा, रामनगर, बिनपुर, गोपीबल्लभपुर, झारग्राम, नयाग्राम, केशियरी, गड़बेता, सालबनी, खड़गपुर, मेदिनीपुर, दांतन, बंदवान, बलरामपुर, जयपुर, पुरूलिया, बाघमुंडी, मानबाजार, पारा, रघुनाथपुर, काशीपुर, सालतोरा, रानीबांध, रायपुर और छातना शामिल हैं. ये विधानसभा सीटें बांकुरा, पुरुलिया, झारग्राम, पश्चिमी और पूर्वी मिदनापुर जिले की है.

पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम के सभी 1,307 मतदान केन्द्रों को नक्सल प्रभावित घोषित किया गया है. मतदान केन्द्रों की निगरानी के लिए केन्द्रीय बलों की 127 कंपनियां तैनात किया गया है. पश्चिम बंगाल में चुनावों के दौरान राजनीतिक हिं’सा का लम्बा इतिहास रहा है. इसलिए चुनाव आयोग इस बार कोई कोताही नहीं बरतना चाहता. हालाँकि सत्ताधारी TMC इतनी कड़ी सुरक्षा में मतदान कराने के और इतने लम्बे चरणों में मतदान कराने के आयोग के निर्णय से नाखुश है. हिं’सा को देखते हुए इस बार बंगाल में 8 चरणों में चुनाव हो रहे हैं.

पश्चिम बंगाल म पहले चरण में जिन 30 सीटों पर चुनाव हो रहे हैं उनमे से 29 सीटों पर भाजपा ने अपने उम्मीदवार उतारे हैं जबकि उसने एक सीट अपनी सहयोगी आजसू के लिए छोड़ी है. लेफ्ट-कांग्रेस गठबंधन में 8 सीटों पर वाम दलों, 10 पर कांग्रेस और दो पर अब्बास सिद्धीकी की पार्टी आईएसएफ ने उम्मीदवार उतारे हैं. चुनाव पूर्व कराये गए तमाम सर्वे में TMC और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर की उम्मीद जताई गई है.