बड़ी खबर : पश्चिम बंगाल में हुआ बम ब्लास्ट जिसमें बीजेपी के 6 कार्यकर्ता गंभीर रूप से हुए घायल

एक तरफ जहाँ चुनाव की तैयारियां जोर शोर से हो रही है. रैलियां निकली जा रही है अपने अपने पार्टी के लोग संबोधन कार्य में लगे हुए है. वही पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव 2021 की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे राज्य में चुनावी सरगर्मी तेज होती जा रही है. इस बीच पश्चिम बंगाल में हिंसा की घटनाओं में भी बढ़ोतरी हुई नजर आ रही है. बीती रात पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में बम धमाका हुआ, जिसमें बीजेपी के 6 कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को लेकर जहां एक तरफ राजनीतिक आरोप -प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है. मुख्य राजनीतिक लड़ाई यहां टीएमसी और भाजपा में हैं. दोनों दल के नेताओं की तरफ से एक दूसरे पर पलटवार किया जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ राजनीतिक हिंसाएं भी तेज हो रही हैं.

नेताओं और कार्यकर्ताओं पर हिंसा की ताजा खबर साउथ 24 परगना जिले के रामपुर गांव की है. यहां पर शुक्रवार की देर रात बम धमाके में छह बीजेपी कार्यकर्ता घायल हो गए हैं. इस घटना के बाद भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया है. खबरों के मुताबिक, रामपुर गांव में हुए बम ब्लास्ट में छह बीजेपी नेता घायल हो गए हैं. घायल बीजेपी कार्यकर्ताओं को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है. आरोप है कि जिस वक्त ये सभी कार्यकर्ता एक शादी समारोह से वापस लौट रहे थे. उस समय टीएमसी कार्यकर्ताओं ने इनके ऊपर बम फेंक दिया.

यह घटना ऐसे समय में सामने आई है, जबकि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी मन मोटव बहुत ज्यदा है. बीते सप्‍ताह उत्‍तरी 24 परगना जिले से भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था जिसमें बीजेपी कार्यकर्ता गोपाल मजूमदार ने टीएमसी के तीन कार्यकर्ताओं पर 27 फरवरी को उनके घर में घुसकर बूढ़ी मां के साथ मारपीट का आरोप लगाया था. बीजेपी ने इसे लेकर टीएमसी पर निशाना साधते हुए कोलकाता की सड़कों पर बुजुर्ग महिला के पोस्‍टर भी लगाए थे और लिखा था. क्या ये बंगाल की बेटी नहीं हैं ?