वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में पीएम मोदी ने ली कोरोना वैक्सीन की डोज, वैक्सीन पर सवाल उठाने वाले विपक्षी नेताओं की बोलती की बंद

सोमवार से कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम का दूसरा चरण शुरू हो रहा है. इस चरण में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोग और अन्य बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन की डोज दी जायेगी. दुसरे चरण में पीएम मोदी ने भी वैक्सीन की पहली डोज ली. पीएम मोदी खुद सुबह-सुबह नई दिल्ली स्थित एम्स पहुंचे और कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाया. इसके साथ ही पीएम मोदी ने लोगों से कोरोना वैक्सीन लगवाने की अपील की.

पीएम मोदी ने खुद को वैक्सीन लगाये जाने की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मैंने एम्स में कोरोना वैक्सीन की मेरी पहली खुराक ली, यह प्रशंसनीय है कि कैसे हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने बहुत कम समय में कोरोना के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूत करने का काम किया है. मैं उन सभी लोगों से व्यक्ति लगवाने का अनुरोध करता हूं, जो इसके योग्य हैं. आइए साथ मिलकर हम भारत को कोविड-19 मुक्त करने में योगदान दें.’

पीएम मोदी ने वैक्सीन लगा कर विपक्ष के उन नेताओं को करारा जवाब दिया है जो इसकी विश्वसनीयता पर सवाल उठा रहे थे और भारत के डॉक्टरों-वैज्ञानिकों की क्षमता पर शंका जता रहे थे. जब वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू हुआ था तब कई नेताओं ने वैक्सीन की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए कहा था कि पीएम खुद वैक्सीन क्यों नहीं लगवाते. अब पीएम मोदी ने वैक्सीन लगवा कर सबका मुंह बंद कर दिया है.

दुसरे चरण के वैक्सीनेशन के लिए सरकार ने सभी तैयारियां पूरी कर ली है. को-विन2.0 पोर्टल पर वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण सोमवार सुबह 9 बजे से शुरू जाएगा. इस बार सरकारी के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। निजी अस्पतालों में वैक्सीन के एक डोज की कीमत केंद्र सरकार ने अधिकतम 250 रुपये तय की है। सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन पहले की तरह फ्री रहेगी.