गेहूं खरीद में किसानों को योगी सरकार ने दी बड़ी राहत, खरीद केंद्रों के लिए होगा रिमोट एप्लिकेशन सेंटर, पढ़े क्या है नियम

लखनऊ. यूपी के किसानों को योगी सरकार ने बड़ी राहत दी है। योगी सरकार 1 अप्रैल से 15 मार्च तक एमएसपी (MSP) पर किसानों का गेहूं खरीदेगी। यूपी के फूड कमिश्नर (Food Commissioner) मनीष चौहान का कहना है कि इस साल गेहूं का एमएसपी 1975 रुपये प्रति क्विंटल तय किया गया है। हालांकि, गेहूं बेचने के लिए किसानों को खाद्द और रसद विभाग की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। अगर किसान ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं, तो वे खाद्द या फिर जन सुविधा केंद्र जाकर भी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस साल गेहूं की खरीद के लिए 6000 खरीद केंद्र बनाए गए हैं, यहीं पर गेहूं की खरीद की जाएगी। खरीद केंद्र सुबह 9 बजे से शाम को 6 बजे तक खुले रहेंगे।

खरीद केंद्रों की रिमोट एप्लिकेशन सेंटर

किसानों की सुविधा को देखते हुए टोकन की व्यवस्था ऑनलाइन की गई है। फूड कमिश्नर मनीष चौहान ने कहा कि किसान अपनी सुविधा के हिसाब से खरीद केंद्र पर गेंहू बेचने के लिए टोकन ले सकते हैं। किसानों को खरीद केंद्रों का पता आसानी से मिल सके इसके लिए खरीद केद्रों की रिमोट सेंसिंग एप्लिकेशन सेंटर के जरिए की जा रही है। गेहूं की खरीद ‘इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ परचेज’ के जरिये की जाएगी। किसानों का अंगूठा लगवाया जाएगा, जिससे आधार प्रमाण कर खरीद की जा सके। ये भी कहा गया है कि किसान अगर खुद गेहूं बेचने खरीद केंद्र नहीं जा सकता तो वह अपने परिवार के किसी दूसरे सदस्य को भी भेज सकता है। वहीं अगर किसान 100 क्विंटल से ज्यादा गेहूं बेचना चाहता है, तो इसके लिए चकबंदी के तहत गांव और बटाईदारों का वेरिफिकेशन उप-जिलाधिकारी करेगा।

ये भी पढ़ें: आज से फ्री बनेंगे आयुष्मान कार्ड, मिलेगा पांच लाख तक का मुफ्त इलाज, जानें कैसे और कहां बनवा सकतें हैं कार्ड

ये भी पढ़ें: जुफर फारूकी फिर चुने गए सुन्नी वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष, एक वोट के अंतर से सपा के इमरान माबूद खान को हराया