महिला दिवस पर मेधावी छात्राएं बनीं एक दिन की थाना प्रभारी, नियम कानून का भी सिखाया पाठ

सीतापुर. अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर सीतापुर में पुलिस ने मिशन शक्ति के तहत मेधावी छात्राओं को 1 दिन का थाना प्रभारी बनाकर एक अलग मिसाल पेश की है। मिशन शक्ति के द्वितीय चरण के इस अभियान में छात्राओं को जहां थाने का प्रभार दिया गया वही महिलाओं को सशक्तिकरण एवं आत्मनिर्भर बनने के गुर भी सिखाए गए। पुलिस अधीक्षक ने सीतापुर के 28 थानों में मेधावी छात्राओं को 1 दिन का प्रभारी नियुक्त कर रोजमर्रा की कार्रवाई से अवगत कराया। मेधावी छात्राएं 1 दिन का थाना प्रभारी बनकर जहां उत्साहित दिखीं वही नियम कानून तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की है।

छात्राओं को थाने का दिया प्रभार

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर पुलिस ने मेधावी छात्राओं को थाने का प्रभार दिया। इसी कड़ी में आज कोतवाली लहरपुर में मेधावी छात्रा प्रियंका, अटरिया में श्रद्धा बाजपेई, कमलापुर में आरुषि, मानपुर में स्वीटी,सदरपुर में साक्षी सहित सीतापुर के समस्त थानों में महिलाओं ने 1 दिन का कानून स्थापित किया। इन प्रभारियों छात्राओं ने सबसे पहले थाने का चार्ज लेकर परिचय प्राप्त किया फिर छात्राओ ने थाने में आने वाली जन शिकायतों की सुनवाई की। वही महिला हेल्प डेस्क पर आने वाली शिकायतों की भी समीक्षा की। एक दिन की थाना प्रभारी बनी छात्राएं थाने का कार्यभार देखने के बाद सड़कों पर भी उतरी।

वाहनों का किया चालान

प्रभारी छात्राएं जन समस्या निस्तारण के बाद क्षेत्र भ्रमण भी किया और सड़कों पर नियम कानून को ताक पर रखकर चलने वालों वाहनों का चालान भी किया। प्रभारी छात्राओं ने संस्थानों में वाहन चेकिंग करके जा राजस्व में बढ़ोतरी करी वही थाने पानी में रखें रजिस्टर एवं कंप्यूटर्स के रखरखाव की भी बारीकी से प्रक्रिया को भी समझा। प्रभारी छात्राओं को कहना है कि उन्हें एक दिन का थाना प्रभारी बनकर गौरवान्वित महसूस हो रहा है और वह भविष्य में पढ़ लिख कर पुलिस विभाग में भर्ती होंगे जिससे वाह गरीब और असहाय लोगों की मदद कर सकें एवं महिला संबंधी अपराधों को जड़ से खत्म करने में अहम योगदान दे सकें।