नंदीग्राम से टिकट मिलने के बाद बोले सुवेंदु अधिकारी ‘ममता बाहरी, मैं नंदीग्राम का बेटा’

पश्चिम बंगाल में भाजपा ने आपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी. पहली लिस्ट में 57 उम्मीदवारों के नाम है. सबकी नज़रें नंदीग्राम पर टिकी थी, ममता बनर्जी के नंदीग्राम से मैदान में उतरने के बाद अटकलें लगाई जा रही थी कि भाजपा उनके ही पुराने सिपहसालार को मैदान में उतारेगी और हुआ भी ऐसा ही. भाजपा ने सुवेंदु अधिकारी को नंदीग्राम से ममता के खिलाफ टिकट दे दिया. सुवेंदु अधिकारी के मैदान में आ जाने से अब सबकी नज़रें नंदीग्राम पर टिक गई है. नंदीग्राम ही वो इलाका है जहाँ के आंदोलन ने ममता को सत्ता दिलाई थी और सुवेंदु अधिकारी ही वो नेता हैं जिन्होंने नंदीग्राम में आंदोलन शुरू किया था. अब सुवेंदु अधिकारी से ममता को सत्ता से बाहर करने के लिए उनके खिलाफ ताल ठोक रहे हैं.

भाजपा से उमीदवार बनाये जाने के बाद सुवेंदु ने ममता की भाषा का ही इस्तेमाल करते हुए उन्हें बाहरी करार दे दिया. उन्होंने कहा, ‘मैं नंदीग्राम की धरती का बेटा हूं जबकि वह (ममता) मेहमान हैं हर 5 साल बाद वह नंदीग्राम के बारे में सोचती हैं. ममता बाहरी हैं.’ उन्होंने ये भी कहा कि अगर ममता सत्ता में लौटती है तो बंगाल दूसरा कश्मीर बन जाएगा.’ अधिकारी ने कहा, ‘मुझे जो ज़िम्मेदारी दी गई है, इसके लिए मैं पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व को धन्यवाद देता हूं. मैं नंदीग्राम और पूरे पश्चिम बंगाल में कमल खिलाने का काम करूंगा. ममता बनर्जी 50,000 से अधिक मतों से यह चुनाव (नंदीग्राम में) हारने वाली हैं.’

सुवेंदु अधिकारी ने दावा किया है कि वो ममता को 50 हज़ार वोटों से हराएंगे. ये सवाल पूछे जाने पर कि अगर भाजपा सत्ता में आती है तो वो मुख्यमंत्री का चेहरा होंगे? अधिकारी ने कहा, ‘बीजेपी में फैसले किसी एक व्यक्ति द्वारा नहीं लिए जाते हैं. मैं पार्टी का अनुशासित सिपाही हूं. हम सब एक टीम की तरह काम कर रहे हैं. मैं काल्पनिक सवालों के जवाब नहीं देना चाहता.’