पंचायत चुनाव को लेकर मायावती ने खोले पत्ते, इस बार अधिकृत प्रत्याशी उतारेगी बसपा

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. पंचायत चुनाव को लेकर अब बसपा ने भी अपने पत्ते खोल दिए हैं। बसपा ने पंचायत चुनाव में उतरने की पूरी तैयारी कर ली है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, बसपा त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों को पूरी दमदारी से लड़ेगी। वहीं बसपा संस्थापक कांशीराम का जन्मदिन आगामी 15 मार्च को पूरे उत्साह के साथ मंडल स्तर पर मनाया जाएगा। इस संबंध में मंडलवार पदाधिकारियों को विस्तृत दिशा निर्देश दिए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें- 'आप' ने किया दिल्ली की तर्ज पर यूपी में मुफ्त बिजली देने का ऐलान

बताया जा रहा है कि पार्टी सुप्रीमो मायावती पार्टी के सभी मंडलवार मुख्य जोन इंचार्जों के साथ बैठक कर पंचायत चुनाव की रणनीति बनाएंगी। बैठक में पंचायत चुनावों को पूरी ताकत से लड़ने का निर्देश दिया गया।

उल्लेखनीय है कि 2015 के पंचायत चुनाव में बसपा ने जिला पंचायत सदस्यों के चुनाव में शानदार सफलता हासिल कर लोगों को चौंका दिया था। पार्टी इस बार भी जिला पंचायत सदस्य के लिए अपने अधिकृत प्रत्याशी उतारने की तैयारी कर रही है। बताया गया है कि पार्टी द्वारा तय प्रत्याशियों की घोषणा मुख्य जोन इंचार्जों के स्तर से स्थानीय स्तर पर की जाएगी।

कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने के लिए होंगे कार्यक्रम

बसपा सुप्रीमो मायावती ने काशीराम जयंती पर 15 मार्च को मंडलीय स्तर पर कार्यक्रम करने के निर्देश जारी किए हैं। बसपा संस्थापक कांशीराम का जन्मदिन मंडल स्तर पर मनाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इन कार्यक्रमों में बसपा पदाधिकारी, सांसद-विधायक, एमएलसी व अन्य जिम्मेदार पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल होंगे। पंचायत चुनाव की घोषणा से ठीक पहले इस कार्यक्रम को कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने के लिए मनाया जाएगा। कांशीराम के जन्मदिन पर सभी मंडल मुख्यालयों में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कयास लगाए जा रहे हैं कि खुद मायावती उस दिन लखनऊ में होने वाले कार्यक्रम में शामिल हो सकती हैं।

मायावती ने दिए ये निर्देश

बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुख्य सेक्टर प्रभारियों को मजबूती से त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव लड़ने के दिशा निर्देश भी दिए हैं। मायावती के निर्देश मिलते ही अब मुख्य सेक्टर प्रभारी भी मंडल स्तर में बैठकों का आयोजन कर अपनी रणनीति तय करेंगे। बताया जा रहा है कि इस बार पंचायत सदस्य के प्रत्याशियों के नाम पार्टी का पैनल तय करेगा।

यह भी पढ़ें- प्रधान बनने के लिए चाहिए ये योग्यता और दस्तावेज, बिना गलती भरें नामांकन वरना हो जाएगा खारिज