वाहन चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, गैंग का सरगना निकाला ब्लाक प्रमुख का पति

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। सेक्टर-24 कोतवाली पुलिस ने नोएडा और एनसीआर में वाहन चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए सेक्टर-53 सीएनजी पंप के पास से दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए बदमाशों में गिरोह का सरगना भी शामिल है, जो बुलंदशहर के अगौता ब्लाक प्रमुख का पति है। जबकि इस गिरोह के दो बदमाश फरार होने में सफल हो गए, जिनकी तलाश पुलिस कर रही है। पुलिस ने आरोपियों के निशानदेही पर चोरी की 5 कार, चोरी की गई कारों के तीन इंजन, 20 कारों की चाबियां व कार चोरी करने के उपकरण बरामद किए हैं।

यह भी पढ़ें: हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने युवक को सड़क पर गिरा-गिराकर पर पीटा, घटना सीसीटीवी में हुई कैद

पुलिस की गिरफ्त में आए मुस्तकीम निवासी बुलंदशहर व इकबाल निवासी मेरठ वाहन चोर गिरोह के सदस्य हैं। मुस्तकीम गैंग का सरगना होने के साथ-साथ बुलंदशहर के अगौता ब्लाक प्रमुख का पति भी है। डीसीपी नोएडा राजेश एस ने बताया इस ने मुस्तकीम पिछले करीब 25 वर्ष से वाहन चोरी कर रहा है। मुस्तकीम पुरानी गाड़िया चुराकर अफजाल व इकबाल बेचता है। आरोपित अब तक दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद व बुलंदशहर 1500 से अधिक वाहन चुरा चुका है। गिरोह अफजाल व इकबाल अभी फरार है। दोनों पिछले करीब 10 वर्ष से कबाड़ का काम करते हैं।

यह भी देखें: ओमनी गाड़ी स्टार्ट करते समय आग लगने से मचा हड़कम्प

डीसीपी ने बताया की मुस्तकीम की पत्नी के चुनाव जिताने के लिए लाखों रुपये खर्च किए थे। इस बार भी उसकी पत्नी दोबारा चुनाव मैदान में है। वहीं फरार आरोपित अफजाल इस बार अपने गांव से ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ने की तैयारी में था। मुस्तकीम ने अपने साथियों संग प्रतिमाह 25 से 30 वाहन चुराने का लक्ष्य रखा था। मुस्कीम 2008 से पहले के माडल की गाड़ी जैसे सेंट्रो, अल्टो, आइ-10 व छोटी गाड़ियों को इकबाल व अफजाल को 30 से 40 हजार रुपये में बेचता था। वह कबाड़ में काटकर उसके पा‌र्ट्स बेचते थे। आरोपित वर्ष 2008 से ऊपर के माडल की गाड़ियों को इकबाल व अफजाल से ही नंबर बदलवाकर 70 से 80 हजार रुपये में बेचता था।