अब गरीबों के राशन में नहीं होगी चोरी, एफसीआई सीधे कोटेदार को देगा अनाज

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार गरीब जनता को राशन देने की प्रक्रिया में बड़ा बदलाव करने वाली है। जिसके अंतर्गत अब एफसीआई सीधे कोटेदार को अनाज देगा। यानी अब राशन की सरकारी दुकानों तक खाद्यान्न पहुंचाने के लिए सिंगल स्टेप डिलीवरी लागू की जाएगी। जिससे गरीबों के राशन में चोरी नहीं हो सकेगी। इसमें एफसीआई के गोदामों से अनाज सीधे दुकानों तक जाएगा। कैबिनेट बाईसर्कुलेशन में यह निर्णय लिया गया। सरकार द्वारा लागू नई व्यवस्था से कोटेदारों को घटतौली और वसूली की समस्या से निजात मिलेगी।

दरअसल अभी तक अभी एफसीआई के गोदामों से खाद्यान्न ब्लॉक के गोदामों तक जाता है और यहां से कोटेदार खुद राशन लेकर जाते हैं। लेकिन यहां पल्लेदार अवैध वसूली करते हैं और और घटतौली भी होती है। इसे ही खत्म करने के लिए सिंगल स्टेप या डोर स्टेप डिलीवरी की नई व्यवस्था लागू की जाएगी। इसे हर जिले के एक ब्लॉक में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लागू किया गया था। लेकिन इसकी सफलता के बाद अब इसे पूरे उत्तर प्रदेश में लागू किया जाएगा।

वाहनों में लगेगा जीपीएस सिस्टम

नई व्यवस्था लागू करने के लिए आपूर्ति विभाग ने प्रदेश की राशन की दुकानों का रूट चार्ट तैयार किया है। खाद्यान्न ले जाने वाले वाहन जीपीएस से लैस होंगे जिससे उनकी लोकेशन की जानकारी मुख्यालय पर सीधा ली जा सकेगी। वाहन के मार्ग से भटकने और रुकने की जानकारी भी मिलेगी। जहां ट्रक नहीं जा पाएंगी वहां छोटी ट्रॉलियों का इस्तेमाल किया जाएगा।

रुकेगी गरीबों के राशन की कालाबाजारी

खाद्यान्न की कालाबाजारी रोकने के लिए सरकार ने सिंगल स्टेज डोर स्टेप डिलीवरी योजना लागू की है। अभी तक कोटेदारों को ब्लाक के गोदाम में खाद्यान्न उठाने जाना पड़ता था। खाद्यान्न न पहुंचने और उठान में देरी के साथ कालाबाजारी की शिकायतें मिल रही थीं। अनाज के खुले बाजार में बिकने के भी कई मामले सामने आ चुके हैं। इसी सब को देखते हुए बीते कई सालों से कोटेदार उत्तर प्रदेश में डोर स्टेप डिलवरी की व्यवस्था लागू कराने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि गोदामों पर उनका शोषण किया जाता है। इसी को देखते हुए अब प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है।

यह भी पढ़ें: SBI में नहीं है अकाउंट तो तुरंत खुलवा लें, बैंक अपने खाताधारकों को दे रहा 2 लाख रुपये का सीधा फायदा