प्रदेश में लागू हाे रहा पे-रोल मॉड्यूल, पांच लाख शिक्षकों काे मिलेगा सीधा लाभ

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. यूपी के पांच लाख से ज्यादा शिक्षकों के लिए राहत भरी खबर है। प्रदेश में पे-रोल मॉड्यूल लागू हाेने जा रहा है। इससे करीब पांच लाख शिक्षकों काे सीधा लाभ हाेगा। अभी तक जिन शिक्षकों काे वेतन और एरियर समय पर नहीं मिल मिलता इसके बाद उन्हे समय से वेतन और एरियर मिलने लगेगा।

यह भी पढ़ें: CBSE ने फिर बदली 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा की तारीख, देखें नई Datesheet

नए शिक्षा सत्र से ऐसे सभी शिक्षकों की परेशानी दूर हाे जाएगी जिन्हे समय पर वेतन और एरियर नहीं मिल पाता। इसके लिए सरकार प्रदेश के सभी जिलों में पे-रोल मॉड्यूल लागू करने जा रही है। इस मॉड्यूल का सीधा लाभ सरकारी स्कूलों के शिक्षकों काे मिलेगा। खास बात यह है कि वेतन ताे समय से मिलेगा ही अब शिक्षा विभाग में बाबूगिरी पर भी लगाम लगेगी छुट्टी काे लेकर हाेने वाला खेल भी खत्म हाे जाएगा।

अभी तक शिक्षकों काे नहीं मिल सका फरवरी का वेतन

सामान्य ताैर पर शिक्षकों काे पांच से दस तारीख के बीच वेतन मिलता है। अभी मार्च माह चल रहा है लेकिन लखनऊ में ऐसे काफी शिक्षक हैं जिन्हे अभी तक फरवरी माह का वेतन नहीं मिल पाया है। वेतन मॉड्यूल लागू हाेने के बाद ऐसा नहीं हाेगा। शिक्षकों काे समय पर वेतन मिलेगा और वेतन के लिए उन्हे विभाग और बाबुओं के चक्कर नहीं लगाने हाेंगे।

ऐसे बनता है शिक्षकों का वेतन

अभी तक जाे व्यवस्था है उसके मुताबिक शिक्षकों का वेतन खंड शिक्षा अधिकारी के स्तर से बनता है। शिक्षकों की महीनेभर की उपस्थिति और उनकी छुट्टी के आधार पर बीईओ वेतन और अन्य बिल वित्त व लेखाधिकारी के पास जमा कराते हैं और इसके बाद वेतन जारी हाेता है। अब ऐसा नहीं हाेगा नया पे- मॉड्यूल के लागू हाेन के बाद सीधे पॉर्टल से शिक्षकों की छुट्टी का ब्याैरा लिया जाएगा। इस तरह वेतन बनकर बीईओ के डिजिटल हस्ताक्षर से ऑनलाइन ही लेखाधिकारी के पास पहुंच जाएगा। इस तरह बाबू गिरी और छुट्टी का खेल खत्म हाेगा और समय से शिक्षकों काे वेतन मिलेगा।

200 ब्लाक क्षेत्र में लागू हाेने जा रहा मॉड्यूल

अगर लखनऊ की बात करें ताे यहां भी अभी तक कई ब्लाक में शिक्षकों काे फरवरी माह का वेतन नहीं मिल पाया है। इसी समस्या काे देखते हुए अब नई व्यवस्था लागू की जा रही है। शिक्षा विभाग के अधिकारियाें ने बताया कि अभी तक पे-रोल मॉड्यूल 200 ब्लाक में लागू हाे चुका है अब इसे प्रदेश के 822 ब्लाक में लागू करने की याेजना है।