प्रधानमंत्री जन आराेग्य पत्र काे ना समझें आयुष्मान कार्ड, जानिए आयुष्मान कार्ड बनवाने का तरीका

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

सहारनपुर ( Saharanpur )अगर आप प्रधानमंत्री ( Prime Minister ) जनआराेग्य पत्र, प्रधानमंत्री प्लास्टिक कार्ड या फिर मुख्यमंत्री जन आराेग्य पत्र काे ही आयुष्मान कार्ड समझ रहे हैं ताे आप गलत हैं। दरअसल इन तीनाें में से काेई भी आयुष्मान कार्ड नहीं है। अस्पताल में उपचार के दाैरान सरकार की याेजना का लाभ आपकाे आयुष्मान कार्ड से ही मिलेगा। इसलिए अपना आयुष्मान कार्ड जरूर बनवा लें।

यह भी पढ़ें: दाे साल से गैरहाजिर चल था दराेगा, डीआईजी कर दिया बर्खास्त

दरअसल, अभी भी काफी ऐसे लाेग हैं जाे इन पत्रों काे ही आराेग्य कार्ड समझ रहे हैं जबकि ऐसा नहीं है। इलाज के दाैरान सरकारी याेजना का लाभ आयुष्मान कार्ड से मिलता है। लॉकडाउन के कारण आयुष्मान कार्ड बननवाने का काम रुका हुआ था लेकिन अब 10 मार्च से एक बार फिर से आयुष्मान कार्ड बनाए जाने के लिए अभियान शुरू हाे रहा है। अब गांव-गांव कैंप लगाकर स्वास्थ्य विभाग गाेल्डन कार्ड बनवाएगा। ऐसे में अगर आपके पास अभी तक सिर्फ प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री आराेग्य पत्र ही है ताे आप अपना आयुष्मान कार्ड बनवा लें।

यह भी पढ़ें: इस IPS ऑफिसर ने 219 बदमाशों पर कसी नकेल, गुंडा एक्ट लगाकर किए जिला बदर

मुख्य चिकित्साधिकारी बीएस साेढी ने इस पूरे मामले में पूछने पर बताया कि अक्सर लाेग मुख्यमंत्री जन आराेग्य पत्र काे ही आयुष्मान कार्ड समझ लेते हैं। ऐसे सभी लाेगाें के लिए यह संदेश है कि वह दस मार्च से शुरू हाेने जा रहे अभियान में शामिल हाेकर अपना आयुष्मान कार्ड बनवा लें। उन्हाेंने साफ किया जिन लाेगाें के पास प्रधानमंत्री आराेग्य कार्ड है उन्हे बिना आयुष्मान कार्ड के फ्री स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिलेगा।