पांच लाख के मुफ्त इलाज के लिए आयुष्मान कार्ड कैसे बनवाएं जानिए

लखनऊ. पूरे यूपी में प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के लाभार्थियों का आज से निशुल्क गोल्डन कार्ड (आयुष्मान कार्ड) बनाया जा रहा है। यह अभियान 24 मार्च तक चलेगा। गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए अभी तक जनसेवा केंद्रों पर 30 रुपए भुगतान करना पड़ता था। लेकिन अब यह कार्ड मुफ्त में बनाया जाएगा। इसके साथ ही गोल्डन कार्ड का नाम बदलकर अब आयुष्मान कार्ड कर दिया गया है।

प्रयागराज में 13 अखाड़ों और कई मठों को इनकम टैक्स का नोटिस

आयुष्मान कार्ड बनाने वाली संस्था साचीज की सीईओ संगीता सिंह ने बताया कि, अभियान के तहत शासन ने मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिया है कि आयुष्मान कार्ड के लिए को चार्ज नहीं ले फ्री में बनाएं। उन्होंने बताया कि सभी जिलों को उनके लाभार्थियों की जानकारी दे दी गई। साचीज से भेजे गए डाटा के आधार पर लाभार्थियों के नाम की प्रिंट की हुई पर्ची जारी होगी। यह पर्ची आशा घर-घर पहुंचाएगी। इसमें लाभार्थी को उसके नजदीकी कैंप और समय की जानकारी दी जाएगी।

आयुष्मान कार्ड कैसे बनवाएं :-

1. आयुष्मान सूचीबद्ध निजी व सरकारी अस्पतालों में निशुल्क बनाए जाते हैं।
2. आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए व्यक्तिगत पहचान के लिए आधार कार्ड लेकर जाएं।
3. परिवार की पहचान के लिए राशन कार्ड अथवा प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री का पत्र अथवा परिवार रजिस्टर की नकल साथ लेकर जाएं।

आयुष्मान कार्ड की पात्रता :-

1. निशुल्क हेल्पलाइन 1800 1800 0444 पर कॉल करें।
2. नजदीकी सूचीबद्ध अस्पताल में आरोग्य मित्र से मिलें।
3. नजदीकी जनसेवा केंद्र पर संपर्क करें।

आयुष्मान कार्ड से मिलने वाली सुविधाएं :-

1. प्रति परिवार प्रति वर्ष पांच लाख रुपए तक की की निशुल्क चिकित्सा सुविधा।
2. गंभीर बीमारियों जैसे ह्रदय रोग, किड़नी रोग, घुटना प्रत्यारोपण, कैंसर, मोतियाबिंद एवं सर्जरी इत्यादि की सुविधा।
3. केवल भर्ती मरीजों को ही निशुल्क उपचार की सुविधा।

आयुष्मान पखवाड़ा आज से :- आपके द्वार आयुष्मान नाम से 10 मार्च से लेकर 24 मार्च तक आयुष्मान पखवाड़ा मनाया जा रहा है। जहां पूरे प्रदेश की समस्त ग्राम पंचायतों में आयुष्मान कार्ड का निशुल्क वितरण किया जा रहा है।

आशा व आंगनबाड़ी कार्यकत्री को मिलेगा प्रोत्साहन राशि :- लखनऊ सीएमओ डॉ. संजय भटनागर ने बताया कि अभी तक जिन लाभार्थियों के कार्ड नहीं बन पाए हैं, उनके लिए यह विशेष अभियान चलाया जा रहा है। पहले इसे गोल्डन कार्ड के नाम से जाना जाता था। लाभार्थी परिवार आधार कार्ड, राशन कार्ड और प्रधानमंत्री द्वारा संबोधित पत्र दिखाकर मुफ्त में आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं। विशेष शिविर में आशा व आंगनबाड़ी कार्यकत्री की ओर से आयुष्मान कार्ड जारी कराने पर प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। प्रति कार्ड पांच और परिवार में एक से अधिक कार्ड निर्गत होने पर 10 रुपए दिए जाएंगे।