आज कोलकाता में पीएम मोदी की महारैली, बीजेपी ने दिया ब्रिगेड चलो का नारा, रैली से पहले मिथुन चक्रवर्ती से मिले कैलाश विजयवर्गीय

आज बंगाल में सियासत का सुपर संडे है. एक तरफ तो बंगाल के दक्षिण में पीएम नरेंद्र मोदी की महारैली है, वहीँ दूसरी तरफ बंगाल के उत्तर में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी हुंकार भरती नज़र आएँगी. पीएम मोदी की रैली कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में रविवार दोपहर 2 बजे होगी. जबकि ममता बनर्जी की रैली सिलीगुड़ी में होगी. पीएम मोदी की रैली में ब्रिगेड परेड मैदान में भाजपा की पाँचों परिवर्तन यात्राओं का समापन होगा. इस परिवर्तन यात्रा ने पश्चिम बंगाल के सभी 294 सीटों को कवर किया है. भाजपा ने पीएम मोदी की रैली के लिए ब्रिगेड चलो का नारा भी दिया है. बीजेपी ने पीएम की रैली को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है.

अटकलें लगाई जा रही है कि आज पीएम मोदी की रैली में गुजरे ज़माने के सुपर स्टार मिथुन चक्रवर्ती भी शामिल हो सकते हैं. रैली से एक दिन पहले शनिवार 6 मार्च को पश्चिम बंगाल में भाजपा के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय, मिथुन चक्रवर्ती से मिलने पहुंचे. कैलाश विजयवर्गीय ने मुलाकात की तस्वीरों को ट्वीट करते हुए लिखा, ‘अभी देर रात कोलकाता के बेलगाचिया में सिनेमा जगत के माशूर अभिनेता मिथुन दाँ के साथ लम्बी चर्चा हुई. उनकी राष्ट्र भक्ति और ग़रीबों के प्रति प्रेम की कहानियाँ सुनकर मन गद-गद हो गया.’ आपको बता दें कि इससे पहले मिथुन चक्रवर्ती आरएसएस चीफ मोहन भागवत से भी मुलाकात कर चुके हैं और तभी से ये चर्चा चल रही है कि मिथुन चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो सकते हैं.

चर्चा तो ये भी है कि सौरव गांगुली भी पीएम मोदी की रैली में पहुँच सकते है और उनके सतह मंच साझा कर सकते हैं. लेकिन इस पर चुप्पी न तो भाजपा की तरफ से तोड़ी गई है और न गांगुली की तरफ से. सौरव गांगुली ने एक टीवी चैनल से कहा था…सोबई सोब किछुर जोन्यो होय ना. इसका मतलब यह है कि हर व्यक्ति एक रोल के लिए नहीं बना होता है. उनकी इस बात का अब क्या मतलब है ये कोई नहीं समझ सका. मिथुन और गांगुली पार्टी में शामिल होते हैं या अनहि ये तो रविवार दोपहर तक साफ़ हो ही जाएगा. अगर शामिल होते हैं तो ये ममता के लिए बहुत बड़ा झटका होगा.