त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव: आचार संहिता लागू होते ही डीएम ने मतदाता बनने से संबंधित फार्म भरने पर लगाई रोक

वाराणसी. जैसे-जैसे समय बीत रहा है वैसे-वैसे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है। यूपी में पंचायत चुनाव चार चरणों में आयोजित कराए जाएंगे। आयोग से अधिसूचना जारी होते ही जिले में आचार संहिता प्रभावी कर दी गई है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने स्थानीय स्तर पर तत्काल प्रभाव से मतदाता बनने से संबंधित फार्म भरने पर रोक लगा दी है। उन्होंने सभी मजिस्ट्रेट को पंचायत चुनाव को लेकर अलर्ट जारी किया है। जिलाधिकारी ने कहा है कि किसी भी तरह की लापरवाही न बरती जाए। उन्होंने सभी सेक्टर व जोनल अधिकारी को निर्देशित किया है कि क्षेत्र में चक्रमण कर बैनर पोस्टर हटवा जाएं। जिलाधिकारी ने 28 जोनल व 105 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की है।

2613 मतदेय स्थल

जिले में कुल 852 मतदान केंद्र, 2613 मतदेय स्थल बनाए गए हैं। कुल मतदाताओं की संख्या 17 लाख 43 हजार 167 है। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के अनुसार, त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन को लेकर सभी आठ विकास खंड क्षेत्र के 101 न्याय पंचायत में 694 ग्राम प्रधान, 8978 ग्राम पंचायतों के वार्ड सदस्य, 1007 क्षेत्र पंचायत सदस्य तथा 40 जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन होगा।

ब्लाकवार स्थिति

बड़ागांव क्षेत्र- 13 न्याय पंचायतों में 80 ग्राम प्रधान, 1030 ग्राम पंचायतों के चार वार्ड सदस्य, 116 क्षेत्र पंचायत सदस्य, पांच जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन होगा। इसके लिए 101 मतदान केंद्र, 307 मतदान स्थल के साथ ही चार जोनल एवं 13 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। जबकि मतदाताओं की संख्या 213259 हैं।

पिण्डरा विकास खंड- क्षेत्र में कुल 14 न्याय पंचायतों में 104 ग्राम प्रधान, 1306 ग्राम पंचायतों के वार्ड सदस्य, 138 क्षेत्र पंचायत सदस्य, छह जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन होगा। इसके लिए 132 मतदान केंद्र, 378 मतदान स्थल के साथ ही 4 जोनल एवं 18 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। जबकि मतदाताओं की संख्या 2,48,592 हैं।

काशीविद्यापीठ विकास खंड- क्षेत्र में कुल 10 न्याय पंचायतों में 66 ग्राम प्रधान, 894 ग्राम पंचायतों के वार्ड सदस्य, 119 क्षेत्र पंचायत सदस्य, चार जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन होगा। इसके लिए 82 मतदान केंद्र, 313 मतदान स्थल के साथ ही तीन जोनल एवं 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती हुई है। मतदाताओं की संख्या 2,05,369 है।

चिरईगांव विकास खंड- क्षेत्र में कुल 12 न्याय पंचायतों में 76 ग्राम प्रधान, 1010 ग्राम पंचायतों के वार्ड सदस्य, 115 क्षेत्र पंचायत सदस्य, चार जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन होगा। इसके लिए 95 मतदान केंद्र, 305 मतदान स्थल के साथ ही चार जोनल एवं 12 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। जबकि मतदाताओं की संख्या 1, 96,498 हैं।

हरहुआ विकास खंड- कुल 13 न्याय पंचायतों में 75 ग्राम प्रधान, 959 ग्राम पंचायतों के वार्ड सदस्य, 100 क्षेत्र पंचायत सदस्य, चार जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन होगा। इसके लिए 89 मतदान केंद्र, 254 मतदान स्थल के साथ ही तीन जोनल एवं 13 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। जबकि मतदाताओं की संख्या 1,64,963 हैं।

सेवापुरी विकास खंड- क्षेत्र में कुल 12 न्याय पंचायतों में 87 ग्राम प्रधान, 1117 ग्राम पंचायतों के वार्ड सदस्य, 119 क्षेत्र पंचायत सदस्य, पांच जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन होगा। इसके लिए 101 मतदान केंद्र, 306 मतदान स्थल के साथ ही तीन जोनल एवं 12 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। जबकि मतदाताओं की संख्या 2,07,772 हैं।

ये भी पढ़ें: पंचायत चुनाव के लिए 1700 से अधिक आपत्तियां, मंगलवार देर रात तक कंपाइल किए गए आंकड़े

ये भी पढ़ें: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव: 425 महिलाओं के हाथ में होगी कमान, 23 मार्च को लिखी जाएंगी आपत्तियां, 26 को जारी होगी अंतिम सूची