कल तक दीप सिद्दू को भाजपा का एजेंट बताया जा रहा था, अब अकाली दल खुल कर उसके समर्थन में आई

पंजाबी गायक और एक्टर दीप सिद्धू, जो 26 जनवरी को लाल किले में हुई हिं’सा का मुख्य आरोपी है, दिल्ली पुलिस की हिरासत में है. लेकिन अब उसके समर्थन में अकाली दल खुल कर आ गई है. जबकि लाल किले पर हुई हिं’सा के बाद उसे भाजपा का एजेंट बताया जा रहा था. क्योंकि उसकी कुछ तस्वीरें भाजपा सांसद सन्नी देओल और पीएम मोदी के साथ थी. यही दीप सिद्धू जब किसान आंदोलन में सिंघु बॉर्डर पर अंग्रेजी में मीडिया से बात करता था तो उसे पढ़ा लिखा किसान बताया जाता था. लेकिन जब उसका नाम लाल किले में हुई हिं’सा से जुड़ा तो तमाम किसान संगठनों ने उससे पल्ला झाड़ लिया. और अब अकाली दल खुल के उसके समर्थन में आ गई है. गौरतलब है कि अकाली दल ने कृषि कानूनों के विरोध में मोदी NDA से अलग हो गई थी.

अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने दीप सिद्धू के समर्थन में ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, ”कई लोगों ने मुझे दीप सिद्धू के बारे पूछने के लिए फोन किया. मैं आप सभी को अपडेट करना चाहता हूं कि जिस दिन उसे रिमांड पर लिया गया था, उसके साथ मेरी टेलीफोन पर बात हुई थी. वह पूरी तरह से ठीक है. मैंने उसे आश्वासन दिया है कि DSGMC सभी कानूनी सहायता प्रदान करेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि वो जल्द ही जेल से बाहर आ जाए.’

आपको बता दें कि 26 जनवरी को पंजाब और हरियाणा के किसानों ने ट्रैक्टर परेड निकाला था. उस परेड में जमकर हिं’सा हुई थी. करीब 5 घंटों तक दिल्ली किसानों के हाथों में बं’धक थी. उप’द्रवी कथित किसानों की भीड़ लाल किले पर पहुँच गई और वहां जम कर हिं’सा की. लाल किले पर सिखों का धार्मिक झंडा निशान लहरा दिया गया था. उस हिं’सा में दीप सिद्धू का नाम सामने आया. वो फरार हो गया. उस पर पुलिस ने एक लाख रुपये का ईनाम रखा था. 9 फरवरी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दीप सिद्दू को पंजाब के जिरकपुर से गिरफ्तार किया था.