फार्मासिस्ट और उसकी पत्नी चला रहे थे सेक्स रैकेट, तीन लड़कियों के इस खुलासे ने उड़ा दिये होश

सीतापुर. थाना क्षेत्र में एक फार्मासिस्ट और उसकी पत्नी द्वारा सरकारी भवन में सेक्स रैकेट चलाये जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। फार्मासिस्ट की पत्नी द्वारा किये जा रहे इस कृत्य का खुलासा उस वक्त हुआ जब कंपनी में काम कर रहे एक चालक ने पीड़ित तीन लड़कियों को एसडीएम के सामने पेश कर दिया। अपराध से पीड़ित तीन लड़कियों ने एसडीएम के माध्यम से पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने मामले को संदिग्ध मानकर फार्मासिस्ट और उसकी पत्नी के खिलाफ केस दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का कहना है कि घटना के पीछे छिपे हर पहलू की जांच पड़ताल की जा रही है और छानबीन के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

फार्मासिस्ट और उसकी पत्नी पर सेक्स-रैकेट चलाने का आरोप

मामला थानागांव थाना क्षेत्र के हलीमंगर पीएचसी का है। यहां पर काम करने वाली बिहार,आजमगढ़ और गोरखपुर की तीन लड़कियों ने पीएचसी फार्मासिस्ट शशिभान यादव और उसकी पत्नी मंजू देवी पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। लड़कियों ने सनसनीखेज आरोप पत्र एसडीएम बिसवां को देकर कार्रवाई की गुहार लगाई है। आरोप है कि मंजू देवी के यहां कार्यरत ड्राइवर इमरान ने तीनो लड़कियों को पीएचसी पर काम करने के लिए रखवाया था और उसके बाद मंजू देवी लड़कियों को नशीला पदार्थ खिलाकर उनसे जबरन गलत काम करवाती थी और लोगों की गाड़ियों में भी भेजती थी।

जांच में जुटी पुलिस

लड़कियों के इस सनसनीखेज आरोप के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मुकदमा दर्ज कर फार्मासिस्ट और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर जेल भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि तीनो लड़कियों के 164 के बयान मजिस्ट्रेट के सामने कराए जा रहे हैं और पूरे मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है और जल्द ही अन्य तथ्य सामने निकलकर आ जाएंगे। एसपी का कहना है कि इस पूरे प्रकरण में लापरवाही बरतने वाले डायल 112 के दो सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है और पूरे प्रकरण की जांच एडिश्नल एसपी दक्षिणी को सौंपी गयी है।