महाशिवरात्रि पर जलाभिषेक करने जा रहे कांवड़िये आपस में भिड़े, तीन साथियों पर चाकू से हमला, एक की मौत

बाराबंकी. महाशिवरात्रि को लेकर जलाभिषेक के लिए हर साल बाराबंकी के पौराणिक लोधेश्वर महादेवा में लाखों कांवड़ यात्रियों का आगमन होता है। कभी-कभार इन कांवड़ यात्रियों के साथ कुछ अप्रिय घटना भी हो जाती है और वैसा ही आज एक बार फिर हुआ जब जत्थे में एक साथ चल रहे कांवड़ यात्री मामूली सी बात पर आपस में ही भिड़ गए। जिसमें एक कांवड़ यात्री ने अपने तीन साथियों पर चाकू से जानलेवा हमला कर दिया। जिसमें एक की मौत और दो गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने हमले के आरोपी कांवड़ यात्री को गिरफ्तार कर लिया है।

 

मामूली कहासुनी में चाकू से हमला

बाराबंकी-गोंडा और बहराइच को जोड़ने वाला मुख्य मार्ग महाशिवरात्रि के समय कांवड़ यात्रियों से भरा रहता है, क्योंकि इसी मार्ग पर भगवान शिव का पौराणिक शिवमन्दिर लोधेश्वर महादेवा स्थित है। यहां जलाभिषेक के लिए दूर-दूर से लाखों की संख्या में शिवभक्त कांवड़ लेकर आते हैं। उसी प्रकार जनपद हरदोई से चला शिवभक्तों का एक जत्था भी जलाभिषेक करने जा रहा था। यह जत्था थाना मसौली इलाके में आपस में मामूली कहासुनी को लेकर भिड़ गया और फिर बात इतनी बढ़ी कि एक कांवड़ यात्री ने अपने साथियों पर चाकू से हमला बोल दिया। इस हमले में एक कांवड़ यात्री की दुखद मृत्यु हो गयी और दो गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल हुए दोनो कांवड़ यात्रियों को बाराबंकी जिला अस्पताल से राजधानी लखनऊ के ट्रामा सेन्टर रेफर किया गया है।

 

एक कांवड़िये की मौत

वहीं जत्थे से अलग चल रहे एक कांवड़ यात्री करुणा शंकर ने बताया कि हरदोई जनपद से हम लोग जल लेकर लोधेश्वर महादेव मन्दिर जलाभिषेक करने जा रहे थे। एक कांवड़ यात्री ने कहासुनी के बाद अचानक चाकू से हमला कर दिया। जिससे एक की मौत हो गयी तथा दो घायल हो गए। वहीं बाराबंकी के पुलिस अक्षीक्षक यमुना प्रसाद के मुताबिक आज सुबह करीब चाप बजे मसौली थाना क्षेत्र के भयारा गांव में एक कांवड़िये ने अपने साथी कांवड़िये पर चाकू से हमला कर दिया। जिसमें उसके तीन साथी गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं अस्पताल पहुंचते-पहुंचते तीन में से एक साथी ने दम तोड़ दिया। जबकि बाकी दो साथियों को लखनऊ रेफर किया गया है। पूछताछ में पता चला कि इन कांवड़ियों का एक साथी अमित कुमार आगे पीछे हो रहा था। जिसपर उसके साथी कांवड़ियों ने उसे रोकने की कोशिश की। इसी गुस्से में उसने अपने साथी कांवड़ियों पर चाकू से हमला कर दिया। मौके पर पर्याप्त पुलिस बल मौजूद है और कानून व्यवस्था को लेकर कोई दिक्कत नहीं है।