इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही दुष्कर्म के बाद गर्भवती हुई किशोरी

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. नारी शक्तिकरण सप्ताह में जहां एक ओर महिलाओं की समस्या के समाधान के लिए जगह-जगह कैंप लगाए जा रहे हैं और थानों में महिलाओं की समस्याओं के समाधान के लिए मुहिम चलाई जा रही है। वहीं, दूसरी ओर मेरठ में एक दुष्कर्म पीड़ित गर्भवती किशोरी इंसाफ के लिए दर-दर ठोकर खा रही है। थाना स्तर से आरोपी के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं होने पर गुरुवार को दुष्कर्म पीड़ित गर्भवती किशोरी अपने परिजनों और वकील के साथ कमिश्नरी चौराहे पहुंची और मीडिया के माध्यम से अपनी व्यथा बताई।

यह भी पढ़ें- हैरतअंगेज, जिसकी हत्या के लिये चार लोगों को हुई सजा, 12 साल बाद जिंदा मिला वो आदमी

कमिश्नरी चौराहे पहुंची सरधना की निवासी किशोरी ने बताया कि वह सरधना के एक गांव की रहने वाली है। करीब आठ महीने पूर्व जब वह घर पर अकेली थी तो उसी दौरान घर में पड़ोस का ही एक युवक घुस आया। युवक ने चाकू की नोक पर उसके साथ दुष्कर्म किया। इतना ही नहीं जाते हुए जान से मारने की धमकी भी दे गया। उसने डर के कारण किसी को यह बात नहीं बताई। कुछ दिन बाद जब उसे पेट दर्द शुरू हुआ तो वह अपनी मां के साथ चिकित्सक के यहां पहुंची तो पता चला कि वह गर्भवती है। किशोरी उस दौरान तीन महीने की गर्भवती थी।

बेटी के गर्भवती होने की जानकारी मां को लगी तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। मां के पूछने पर उसने पूरी बात बता दी। इसके बाद परिजन किशोरी को लेकर थाने और सीओ के चक्कर काट चुके हैं, लेकिन कहीं उनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। पीड़ित किशोरी के परिजनों ने कोर्ट के माध्यम से इंसाफ की गुहार लगाई है। गुरुवार को पीड़िता एसएसपी से मिलने आई। जहां पर दिवस अधिकारी रामअर्ज ने उसको कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

यह भी पढ़ें- बंद कंपनी से 22 लाख के ब्रांडेड कपड़े चोरी, सरगना समेत गैंग के सात सदस्य गिरफ्तार