जंगल में अचानक लगी भीषण आग से मची अफरा तफरी, कई पेड़ हुए बर्बाद, जंगली जानवरों के मरने की आशंका

ललितपुर. जाखलौन थाना क्षेत्र के ग्राम चांदपुर जहाजपुर में अचानक आग लगने से अफरा तफरी मच गई। संसाधनों के अभाव में आग बुझाना मुश्किल हो गया। हालांकि, स्थानीय लोगों की मदद से वन विभाग की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। दरअसल, इन दिनों पतझड़ का मौसम चल रहा है। जंगल में पेड़ों के नीचे पत्तों के ढेर लगे हैं। इसके अलावा घास भी सूख गई है। इस कारण जंगल में आग फैलने का खतरा बढ़ गया है। शुक्रवार को जंगल के आसपास सैपुरा क्षेत्र में अचानक आग फैल गई। स्थानीय लोगों की उस पर नजर पड़ गई और उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दे दी। कंट्रोल रूम के माध्यम से सूचना वन विभाग मुख्यालय पहुंची। उधर, दमकल विभाग भी हरकत में आ गया।

कई जानवरों के मरने की आशंका

चांदपुर-जहाजपुर के आसपास प्लांटेशन का कार्य कराया गया है। इससे फैली आग से प्लांटेशन को खतरा उत्पन्न हो गया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि कर्मचारियों की लापरवाही से यह हादसा हुआ क्योंकि जहां आग लगी वह इलाका उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बॉर्डर के करीब है और इस इलाके के आसपास कई अन्य गांव हैं जहां आग फैलने की भी आशंका बढ़ गई है। उधर, जहाजपुर के जंगल इलाके में अचानक आग लगने से कई जंगली जानवरों के मरने की आशंका भी जताई गई है। मामले में डीएफओ के अधिकारी ने कहा कि जिस समय आग फैलना शुरू हुई उस समय वहां वन विभाग का कोई कर्मचारी मौजूद नहीं था। आग की सूचना मिलते ही अधिकारी आग बुझाने पहुंच गए।

पेड़ों की डालियों से बुझाई आग

मॉनसून सीजन में एक तय लक्ष्य के अनुसार पौधारोपण कर अपनी पीठ थपथपाने वाले अधिकारियों के सामने जब सुरक्षा की बारी आई तो वह पीछे हटते दिखे। मौके पर वॉचरों ने पेड़ों की डालियों से आग बुझाई। हालांकि, इस दौरान कई सारे पेड़ जलकर राख हो गए।

ये भी पढ़ें: नाम छुपाकर पहले किया लव जिहाद,फिर अश्लील वीडियो की धमकी देकर 12 दिन तक किया दुष्कर्म

ये भी पढ़ें: निर्धन और बेसहारा बच्चों को शिक्षित करेगी पुलिस, आधार कार्ड दिखाकर मुफ्त में पा सकते हैं पुस्तकें और ड्रेस