फोर व्हीलर में एयरबैग लगवाना अनिवार्य, जानिए नए नियम के बारे में सबकुछ

लखनऊ. केंद्र सरकार ने सुरक्षा की दृष्टि से फोर व्हीलर की अगली सीट के लिए एयरबैग को अनिवार्य करने का फैसला किया है। यदि ऐसा होता है तो अन्य राज्यों के साथ-साथ उत्तर प्रदेश में भी यह नियम लागू होगा। मंत्रालय ने इसे लेकर नोटिफिकेशन जारी किया है। नोटिफिकेशन में कहा गया है, "मंत्रालय ने ड्राइवर की बगल की सीट पर बैठे पैसेंजर के लिए एयरबैग के प्रोविजन को अनिवार्य बनाने से संबंधित गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इसे सुरक्षा का जरूरी उपाय मानते हुए किया गया है. सड़क सुरक्षा पर सुप्रीम कोर्ट की समिति ने भी इसका सुझाव दिया था।" नेटिफिकेशन में यह भी कहा गया है कि एक अप्रैल और इसके बाद बनाई जाने वाली गाड़ियों में कंपनियों के लिए फ्रंट सीट के लिए एयरबैग देना जरूरी होगा। 31 अगस्त तक फ्रंट सीट के लिए एयरबैग लगवाने की समय सीमा निर्धारित की गई है।

नुकसान से बचाता है एयरबैग

सरकार ने सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतों को देखते हुए यह फैसला लिया है। हर साल सड़क दुर्घटना में बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो जाती है। इसमें व्हीकल के आगे वाली सीट पर बैठे लोगों को ज्यादा खतरा होता है। अगर कार में एयरबैग लगा हो, तो यह दुर्घटना की स्थिति में लोगों को होने वाले नुकसान से बचाता है। तेज झटका लगते ही यह खुल जाता है, जिससे यात्री को नुकसान कम से कम पहुंचता है। हालांकि, महंगी कारों में एयरबैग की सुविधा होती है लेकिन, कम कीमत वाली कारों में कंपनियां यह सुविधा नहीं देती हैं। इसे देखते हुए एयरबैग को हर कार में लगवाना अनिवार्य किए जाने पर विचार किया जा रहा है।

लखनऊ वासियों ने जताई खुशी

एयरबैग लगवाने के फैसले पर लखनऊ वासियों ने खुशी जताई है। राजाजीपुरम से बीए थर्ड ईयर स्टूडेंट संदीप सिंह का कहना है कि सड़क दुर्घटना को रोकना बहुत जरूरी है। एक बड़ी संख्या में लोग ट्रैफिक नियमों के पालन को लेकर लापरवाह हैं। छोटे शहरों में यह समस्या ज्यादा है। अच्छी सड़कें न बनी होने के कारण और गड्ढे ज्यादा होने की वजह से अक्सर एक्सीडेंट हो जाते हैं। ऐसे में अगर एयरबैग लगवाने से यह समस्या कम हो सकती है, तो यह बहुत अच्छा फैसला है।

अलीगंज से मोना सिन्हा ने भी फैसला का समर्थन करते हुए कहा कि एयरबैग लगवाने से लोगों की जान का खतरा भी कम बना रहेगा और साथ ही यह लोगों को सेफ्टी पर्पज से जागरुक करने का भी काम करेगा। उन्होंने कहा कि वह कामकाजी महिला हैं। एक प्राइवेट कंपनी में काम करती हैं और अक्सर कार से ही ऑफिस जाती हैं। सुबह के समय काफी ट्रैफिक होता है और लोगों को अपने काम पर जाने की जल्दी भी ज्यादा रहती है। भीड़ होने के कारण सड़क पर स्मूदली गाड़ी चला पाना मुमकिन नहीं होता। इससे एक्सीडेंट का खतरा बना रहता है। ऐसे में अगर गाड़ियों में एयरबैग लगवाया जाता है, तो यह हर नागरिक को सड़क पर गाड़ी लेकर निकलने की सुरक्षा देगा।

ये भी पढ़ें: मिशन प्रेरणा से एडेड स्कूलों में पढ़ाई की गुणवत्ता पर राज्य सरकार रखेगी नजर, सभी जिलों में आदेश जारी

ये भी पढ़ें: योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी में हर किसान का बनेगा क्रेडिट कार्ड, 15 अप्रैल तक चलेगा अभियान, इस तरह करना होगा आवेदन