निर्धन और बेसहारा बच्चों को शिक्षित करेगी पुलिस, बुक बैंक सेंटर के तहत मुफ्त में पा सकते हैं पुस्तकें और ड्रेस

लखनऊ. यूपी पुलिस अब अपराधियों पर कार्रवाई करने व अपराध पर लगाम लगाने के साथ-साथ निर्धन और बेसहारा बच्चों को शिक्षित भी करेगी। राजधानी लखनऊ में मार्च के दूसरे सप्ताह से यह व्यवस्था शुरू होने जा रही है। जो गरीब बच्चें पुस्तकों के अभाव में पढ़ाई नहीं कर पाते हैं, उनके लिए जल्द ही पुलिस 'बुक बैंक सेवा केंद्र' खोलने जा रही है। लखनऊ के डालीगंज स्थित पुलिस ऑफिस में यह व्यवस्था शुरू होगी। यहां नर्सरी से लेकर कक्षा 12 तक के बच्चों के कोर्स से संबंधित पुस्तकें होंगी। पुलिस ऑफिस स्थित 'बुक बैंक सेवा केंद्र' पुलिस अधिकारियों, स्कूल के प्रबंधकों और संस्थाओं के माध्यम से संचालित होगा।

भारत की महान हस्तियों का पाठ पढ़ेंगे बच्चे

बुक बैंक सेवा केंद्र में पुलिस बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ भारत की महान हस्तियों के बारे में बताया जाएगा। इसके अलावा समसामयिक घटनाक्रम से संबंधित भी पुस्तकें होंगी। बच्चों को निशुल्क ड्रेस उपलब्ध कराई जाएगी। इस संबंध में गुरुवार को सर्वजीत सिंह, विनोद रात्रा की अगुवाई में स्कूल प्रबंधकों के प्रतिनिधि मंडल ने संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून-व्यवस्था नवीन अरोड़ा से मुलाकात की। प्रतिनिध मंडल ने 'पुलिस बुक बैंक सेवा केंद्र' को हमेशा पुस्तकें मुहैया कराने का आश्वासन दिया। प्रवक्ता सतवीर सिंह राजू ने कहा कि स्कूल प्रबंधकों के प्रतिनिध मंडल, केंद्री सिंह सभा लखनऊ, स्कूल यूनिफार्म वेलफेयर एसोसिएशन के लोगों ने पुलिस ऑफिस में करीब चार हजार पुस्तकें और 500 स्कूली ड्रेस बच्चों के लिए पुलिस सेवा केंद्र में रखवाई गई हैं। जरूरतमंद बच्चे और उनके परिवारीजन पुलिस ऑफिस स्थित पुलिस सेवा केंद्र में जाकर अपना आधार कार्ड दिखाकर अपनी जरूरत की पुस्तकें और ड्रेस ले सकते हैं।