'आप' का ऐलान, दिल्ली की तर्ज पर ही यूपी में भी किसानों को बिजली मुफ्त देंगे

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
गाजियाबाद. उत्तर प्रदेश में विपक्षी पार्टियों ने भी अब अपनी चुनावी जमीन तैयार करनी शुरू कर दी है। सभी राजनीतिक पार्टियां किसान आंदोलन को भुनाने के प्रयास में लगी हुई हैं। आम आदमी पार्टी किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष महेश त्यागी ने घोषणा की है कि यदि उत्तर प्रदेश में उनकी पार्टी सत्ता में आई तो सबसे पहली प्राथमिकता किसानों को मुफ्त बिजली देना होगा। उसके बाद उत्तर प्रदेश के किसानों को ट्यूबवेल का बिजली का बिल भरने की आवश्यकता नहीं होगी। यानी दिल्ली की तर्ज पर ही उत्तर प्रदेश में भी किसानों को बिजली मुफ्त दी जाएगी।

यह भी पढ़ें- अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2021 पर सीएम योगी ने दी शुभकामनाए कहा, यूपी की प्रगति में मातृशक्ति की भागीदारी अविस्मरणीय

दरअसल, महेश त्यागी बतौर पर्यवेक्षक गाजियाबाद आए। त्यागी के पास हापुड़, गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद जिले का प्रभार है। महेश त्यागी पत्रकारों से रूबरू होते हुए भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता सत्ता में आने से पहले दावा किया करते थे कि यह पार्टी किसान हितेषी है, लेकिन जिस तरह से किसानों के ऊपर तीन कृषि कानून थोपे गए हैं, इनसे किसान बेहद आहत है। किसान के हित में भाजपा के द्वारा कोई कार्य ऐसा नहीं किया गया, जो किसानों को राहत दे सके।

उन्होंने कहा कि किसानों के गन्ने के बकाया भुगतान को लेकर सरकार गम्भीर नहीं है। आम आदमी पार्टी की सरकार बनते ही किसान जैसे ही गन्ना मिल पर डालकर जाएगा, तुरंत ही उसके खाते में उसकी रकम भेज दी जाएगी। वहीं, आप मीडिया प्रभारी मनोज त्यागी ने कहा कि उत्तरप्रदेश के किसानों का चीनी मिलों द्वारा शोषण किया जाता है। उन्ही की रकम उन्हें समय पर नहीं मिलेगी तो क्या फायदा होगा। केंद्र व राज्य चीनी मिल मालिकों के हितों की चिंता करते हैं। जबकि किसानों के हितों की चिंता होनी चाहिए थी। चीनी मिल मालिकों को बड़ी धनराशि सब्सिडी के रूप दे दी जाती है।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी जिला पंचायत की समस्त सीटों पर चुनाव लड़ेगी। वहीं, इसी दौरान जिलाध्यक्ष चेतन त्यागी ने कहा कि जिला पंचायत चुनाव में पार्टी के प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी होगी। निश्कलंक और अच्छे चरित्र वाले प्रत्याशियों को ही पार्टी टिकट देगी।

यह भी पढ़ें- योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी में हर किसान का बनेगा क्रेडिट कार्ड, 15 अप्रैल तक चलेगा अभियान, इस तरह करना होगा आवेदन