खेत में तेंदुए के बच्चे मिलने से किसान के छूटे पसीने, एक महीने पहले इलाके में दिखा था गुलदार का जोड़ा

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। मेरठ के किठौर थाना क्षेत्र के भड़ौली के जंगल में तेंदुए के तीन बच्चे मिलने से हड़कंप मच गया। इसी इलाके में एक माह पूर्व तेंदुए के जोड़े को लोगों ने देखा था। तेंदुआ पकड़ने के लिए वन विभाग की टीम ने पिंजरा भी लगाया था। लेकिन वह हाथ नहीं आए। वन विभाग की टीम् काफी दिन तक तेंदुए को पकड़ने के लिए अभियान चलाती रही। लेकिन चालाक तेंदुए ने वन विभाग को गच्चा दे दिया।

यह भी पढ़ें: आग की चपेट में आया बीएसएनएल का गोदाम, भीषण आग से लाखों का नुकसान

तेंदुए के बच्चों के मिलने की खबर वन विभाग को दी गई। जिस पर विभाग की टीम मौके पर पहुंची और बच्चों को उठाकर जंगल में सुरक्षित छोड़ दिया। तेंदुए के इन बच्चों की उम्र एक सप्ताह की बताई जा रही है। बच्चों के मिलने से आसपास के ग्रामीण इलाके में हड़कंप मच गया। जहां सूचना पर पहुंची वन विभाग की टीम ने तेंदुए के बच्चों को पकड़ा और अपने साथ ले गई।

यह भी पढ़ें: इस जिले में दिखा रफ्तार का कहर, पांच लोगों की मौत, दो बच्चों की हालत गंभीर

आपको बता दें कि भड़ौली गांव के किसान जंगल में अपने खेत जा रहे थे। अचानक एक किसान को खेत में पेड़ के नीचे तेंदुए के बच्चे नजर आए। जिसके बाद किसान ने इसकी सूचना गांव में दी। गांव वालों ने इसकी जानकारी वन विभाग को दी। जिसके बाद हस्तिनापुर रेंज के सिपाहियों की टीम पहुंची और तेंदुए के बच्चों को चिकित्सकों को दिखाया। चिकित्सक ने तीनों बच्चों को स्वस्थ्य बताया है। बच्चों को इसकी माता गुलदार के संभावित आने वाली जगह पर छोड़ दिया गया है।इसके अलावा ग्रामीणों से ऐहतियात बरतने की सलाह दी गई है। वन विभाग की टीम इस पर भी नजर रख रही है कि माता गुलदार अवादी वाले क्षेत्र से दूर रहे।