Gold Price: 12000 रुपये सस्ता हुआ सोना, 42,500 तक जा सकती है सोने की कीमत, खरीदारी का सुनहरा मौका

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. आने वाले वैवाहिक सीजन से ठीक पहले सोने की खरीदारी के लिये ये सुनहरा मौका और सोने में निवेश के लिये बेहतर समय है। सोना अपने रिकाॅर्ड हाई रेट से 12,000 रुपये तक सस्ता (Gold Price) हो चुका है तो दूसरी ओर चांदी भी बीते साल के उच्चतम स्तर से 10,000 रुपये सस्ती (Silver Price) हो चुकी है। सप्ताह के अंतिम कारोबारी सत्र में सोने में फिर बड़ी गिरावट दर्ज की गई और सोना 421 रुपये सस्ता होकर 44,516 रुपये प्रति 10 ग्राम (Gold Price Today) की कीमत तक पहुंच गया, जबकि चांदी 998 रुपये गिरकर 65128 रुपये प्रति किलो (Silver Price Today) की दर पर बंद हुई। जानकार बता रहे हैं कि आने वाले दिनों में सोने की कीमतें 42,500 रुपये तक जा सकती हैं। बता दें कि बीते साल (7 अगस्त 2020) को सोने अब तक के सबसे उच्च्तम स्तर 56254 रुपये पर पहुंच गया था। इसी तरह चांदी भी बीते साल 76008 रुपये तक पहुंची थी, जिसमें अब तक 10,000 की गिरावट दर्ज की जा चुकी है।

 

मार्च के महीने में सोने में अब तक 1559 रुपये की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। फरवरी के अंतिम कारोबारी सत्र में सोना 46570 रुपये पर बंद हुआ था जो मार्च के पहले कारोबारी सत्र में 46111 पर खुलकर 135 रुपये की गिरावट के साथ 45976 पर बंद हुआ। इसके बाद इसमें लगातार गिरावट दर्ज की गई। इसी तरह चांदी भी फरवरी के 68621 के मुकाबले मार्च में गिरावट के साथ 68473 पर खुलकर 7 रुपये की मामूली कमी के साथ 68466 रुपये प्रति किलो पर बंद हुई, लेकिन इसमें गिरवट का दौर जारी रहा और मार्च के पहले कारोबारी सप्ताह में चांदी में 3345 रुपये की गिरावट दर्ज की गई।


खरीदारी का सुनहरा मौका

सोने-चांदी में आ रही ये लगातार गिरावट से जहां बाजार चिंतित है, वहीं ये सोने में निवेश करने वालों और खरीदारों के लिये सुनहरा मौका है। अप्रैल से शादियों का सीजन शुरू हो रहा है। ऐसे में शादी वाले घरों में सोने-चांदी और जेवरात की खरीदारी के लिये यह बेहतर मौका है। वहीं निवेश के लिहाज से भी इसे सही समय कहा जा रहा है, क्योंकि सोने में अब तक ऑल टाइम हाई रेट से करीब 12000 रुपये तक की कमी आ चुकी है। जेवराती सोने की कीमत बीते सात दिनों में 1818 रुपये तक घटी हैं। 22 कैरेट का जेवराती सोना 44077 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया है।


क्यों गिर रहा है रेट

कोरोना संक्रमण काल में निवेशकों ने सोने में खूब निवेश किया जिसका असर ये हुआ कि सोना रिकाॅर्ड उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। हालांकि इसके बाद वैक्सीन आने के बाद इसमें लगातार नरमी बनी हुई है। फरवरी के महीने में सरकार ने सोने पर इंपोर्ट ड्यूटी में 2.5 प्रतिशत की कमी का ऐलान किया तो इससे भी सोना की कीमतों में और बड़ी गिरावट शुरू हुई। फरवरी में सोना 3000 रुपये सस्ता हो गया। इसके अलावा डाॅलर इंडेक्स में मजबूती से भी सोना कमजोर हुआ है। मुनाफा वसूली और शेयरों की ओर निवेशकों की वापसी ने भी सोने पर असर डाला है। इसके अलावा बिटक्वाइन जैसे निवेश के नए विकल्पों के आने से भी सोना फिसला है।