Holi 2021: होली पर 400 वर्ष बाद बन रहा है दुर्लभ योग, इस राशि के लोगों का खुलेगा भाग!

पत्रिका न्यूज नटेवर्क

मेरठ। Holi 2021 पर इस बार करीब 400 साल बाद दुर्लभ योग (Durlabh Yog) बन रहा है। इस बार 29 मार्च को होली के दिन चंद्रमा कन्या राशि में विराजमान रहेंगे। इसके अलावा गुरु और शनि दोनों अपनी ग्रह राशियों में रहेंगे। होली पर इस बार सर्वार्थसिद्धि योग के अलावा अमृत सिद्धि योग भी रहेगा। ज्योतिषविद् भारत ज्ञान भूषण बताते हैं कि इस बार होली पर ध्रुव योग का निर्माण हो रहा है। इस तरह के ग्रहों का योग 400 साल पहले सन 1500 को बना था।

यह भी पढ़ें: होली पर बाजार हुए गुलजार, रंग गुलाल के साथ मिठाइयों की बढ़ी दर, जानें क्या है रेट

उन्होंने बताया कि इस बार होली पर इस बार सर्वार्थसिद्धि योग के अलावा अमृतसिद्धि योग भी रहेगा। होलिका दहन पंचक व भद्रा मुक्त होगा। भारत ज्ञान भूषण के अनुसार इस बार रविवार 28 मार्च को उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र विशिष्ट करण में है इस बार की त्रियोगी होली होगी। सवार्थ सिद्धि योग,अमृत सिद्धि योग के साथ वृद्धि योग 3 योगा से मिलकर इस बार त्रियोगी होली बन गई है। चंद्रमा कन्या राशि में होंगे। इस प्रकार के योगों वाली रविवारीय होली ढाई सौ वर्ष बाद पड़ रही है। जिसमें 3 रंगों से होली का खेलना त्रिआयामी शुभता बढ़ाएगा।

यह भी पढ़ें: 10 से कम और 60 वर्ष से ऊपर के लोग नहीं खेल सकेंगे होली, कोरोना की नई गाइडलाइन में लगे ये प्रतिबंध

ये है होली पूजन का विशेष मुहूर्त :—

-लाभामृत योग दिन 9:00 से 12:00 बजे

-शुभ योग दोपहर 1:30 से 3:00 बजे