Holi बाजार में योगी की पिचकारी, मोदी का गुलाल और प्रियंका के वाटर टैक की धूम

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ ( Holi offers ) होली को मात्र एक दिन ही बचा है। ऐसे में लोगों का उत्साह भी बढ़ता जा रहा है। रंग-गुलाल, पिचकारियों और मुखौटों से बाजार सज चुके हैं। इस बार बंगाल में चुनाव चल रहे हैं और आगामी 2022 चुनाव का असर भी होली के रंगों पर दिख रहा है। बाजार में रंगों के पैकेट पर राजनैतिक चोला चढ़ा हुआ है।

यह भी पढ़ें: Holi i Offer महज 134 रुपये में मिल रहा 834 वाला घरेलू गैस सिलेंडर

Holi बाजार में नेताओं के गुलाल, पिचकारी, मुखौटे और टोपी की डिमांड है। जो जिस पार्टी का समर्थक वह उसी नेता की पिचकारी, मुखौटे और टोपी खरीद रहा है। टोपी में इस समय केजरीवाल स्टाइल टोपी की डिमांड हैं तो प्रियंका वाटर टैक भी बच्चों के बीच काफी पसंद की जा रही है। इस बार नरेंद्र मोदी व ममता के नाम से गुलाल जो आ रहा है वह भी खूब डिमांड में है। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के नाम की पिचकारी भी खूब धूम मचा रही है। व्यापारियों ने योगी छाप पिचकारी थोक में मंगाई है। गुलाल के पैकेट पर मोदी व ममता की तस्वीर लगी है। बाजार में सर्वाधिक तादाद बच्चों व युवकों की देखी जा रही है। बच्चों का दिल बाहुबली, स्पाइडरमैन और मोटू-पतलू पिचकारी पर मचल रहा है।

डोरमेन, शार्टगन, जय भीम आदि की जमकर खरीदारी
महानगर के विभिन्न बाजारों में पिचकारी की दुकानें सज गई हैं। रंग बिरंगी पिचकारियां आकर्षण का केंद्र बनी हैं। दुकानों पर बाहुबली, मोटू-पतलू, गन मशीन, टैंक गन, केप पिचकारी, डोरमेन, शार्ट गन, जय भीम आदि पिचकारियों की खरीदारी जमकर हो रही है। बच्चों को रंगीन गुब्बारे भी भा रहे हैं। स्पाइडरमैन, वीडियो गेम्स की बंदूक पिचकारी बच्चों को खूब भा रही हैं। लोग भी बच्चों की मनपसंद पिचकारियों की खरीदारी कर रहे हैं। अगर मास्क की बात की जाए तो डरावनी व अन्य तरह के मुखौटों की मांग खूब हो रही है। पर्व को लेकर बच्चों में काफी उत्साह दिखाई दे रहा है। होली पर जमकर मस्ती करने के लिए बच्चे अपनी पसंद की चीजों की खरीदारी करने में चूक नहीं रहे। दुकानदारों की मानें तो इस बार पिचकारी के दामों में खास बढ़ोत्तरी नहीं हुई है। अबकी पिचकारियों व मुखौटों की मांग अधिक है।

प्राकृतिक गुलाल की मांग
बाजार में रंग व गुलाल की दुकान सज गई हैं। बाजार में अलग अगल खुशबू वाले गुलाल की मांग अधिक है। रंग विक्रेताओं की मानें तो बाजार में पक्के रंगों की मांग धीरे धीरे कम होती जा रही है। लोग पक्के रंगों की बजाए हर्बल रंगों को पसंद कर रहे हैं। छोटी-बड़ी दुकानों में हर्बल कलर को प्राथमिकता दी जाने लगी है। गुलाब, मैजिक रंग और ब्रांड के साथ कई हर्बल रंग बाजार में उपलब्ध हैं। इनमें गुलाब, मोगरा और लैवेंडर (बैगनी रंगों वाला फूल) की खुशबू वाले गुलाल की अधिक मांग है।