Meerut में मिले 28 कोरोना संक्रमित, प्रतिदिन बढ़ रहा कोरोना रोगियों का ग्राफ

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. एक तरफ होली की तैयारी तो दूसरी तरफ कोरोना संक्रमण का फैलता दायरा। मार्च के अंतिम दिनों में अब फिर से वहीं स्थिति होने लगी है जो कि एक साल पहले मार्च के अंतिम सप्ताह और अप्रैल 2020 में थी। धार्मिक स्थलों और सार्वजनिक स्थलों में कोरोना के प्रति लोगों में किसी प्रकार की सतर्कता नहीं बरती जा रही, जिसके चलते संक्रमितों की संख्या में बढोतरी होती जा रही है। मेरठ में जिस रफ्तार से कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है उससे तो यहीं प्रतीत होता है कि अगर लोगों की लापरवाही ऐसे ही बनी रही तो कोरोना को रोकना स्वास्थ्य विभाग के बस से बाहर होगा।

यह भी पढ़ें- UP Top News : यूपी में सात गुना तेज हुई कोरोना संक्रमण की रफ्तार, कई जिलों में दोबारा लौटा कोरोना

2020 के अंतिम महीनों में काबू में आया संक्रमण लोगों की लापरवाहियों के कारण फिर से तेजी से फैल रहा है। हालात यह हैं कि मार्च में हर दिन ज्यादा मरीज मिलने का रिकॉर्ड बन रहा है। बीती जनवरी और फरवरी में प्रतिदिन मिल रहे रोगियों का जो ग्राफ तेजी से नीचे गिरा था, अब वह फिर ऊपर की ओर बढ़ रहा है। एक मार्च को सिर्फ 1 मरीज मिला था। जबकि बुधवार को मिले मरीज इसकी तुलना में 27 अधिक हैं। बीते 24 घंटे में हालांकि किसी रोगी की मृत्यु नहीं हुई। मेरठ में कोरोना संक्रमण से अब क 409 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं अब तक जिले में 21583 कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। होम आइसोलेशन मरीजों की संख्या भी इस समय 77 तक पहुंच चुकी है।

धार्मिक स्थलों और सार्वजनिक स्थलों पर लापरवाही

धार्मिक स्थलों और सार्वजनिक स्थलों में लोगों की लापरवाही कहीं न कहीं कोरोना के संक्रमण बढ़ने की वजह बन रही है। लोगों में इस बीमारी के प्रति कोई खौफ नहीं दिखाई दे रहा है। लोग इसके प्रति लापरवाह बने हुए हैं। होली के चलते बाजारों में जमकर भीड़ उमड़ रही है। कोरोना का भय लोगों में नहीं दिखाई दे रहा। न किसी तरह की कोई सावधानी बरती जा रही है।

यह भी पढ़ें- त्यौहार और कोरोना की बढ़ती रफ्तार को लेकर फिर सख्त हुए नियम, उल्लंघन करने पर लगेगा भारी जुर्माना