आरेड़िका ने उत्पादन को लेकर नए चरण में किया प्रवेश,1360 कोचों निर्माण कर नया कीर्तिमान स्थापित किया

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

रायबरेली. रेल कोच आधुनिक रेल डिब्बा का कारखाना ने लगातार आरेडि़का आए दिन अपने उत्पादन क्षमता के साथ-साथ नए प्रकार के डिब्बों का निर्माण करने के श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुए भारतीय व विश्व रेलवे में अपनी पहचान बनाने कि दिशा में अग्रसर है। कोच उत्पादन की गति का मुल्यांकन करके रेल मंत्रालय ने आरेडिका को लगातार दूसरे वर्ष भी सर्वश्रेष्ठ उत्पादन इकाई के रूप में चयनित किया है।

यह भी पढ़े: पिता ने अपनी 7 साल की मासूम को बनाया हवस का शिकार,पुलिस ने पिता को किया गिरफ्तार

वित्तीय वर्ष में 1360 कोचों का उत्पादन कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया

लालगंज( Lalganj) आरेड़िका अपने उत्पादन में अभूतपूर्व वृद्धि कर नए चरण में प्रवेश किया है, कोविड.19 वैश्विक महामारी के कारण वित्तीय वर्ष 2020- 21 के प्रथम दो महीनों में कोचों का उत्पादन नहीं हो पाने के बावजूद वर्तमान वित्तीय वर्ष के आखिरी दिन 31 मार्च तक आरेडिका द्वारा वित्तीय वर्ष में 1360 कोचों का उत्पादन कर न सिर्फ अपने निर्धारित 1343 कोचों के लक्ष्य से अधिक उत्पादन कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। वित्तीय वर्ष 2020- 21 में विभिन्न प्रकार के कोचों का निर्माण प्रथम बार किया गया। जिनमें प्रथम 160 किलोमीटर घंटा की गति से चलने वाले शयनयान स्मार्ट तेजस रेक तथा वातानुकूलित लगेज पावर कार इत्यादि कोचे शामिल है।

यह भी पढ़े: सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी सरकार पर उठाये यह गंभीर सवाल,जनता से कहा अब

भारतीय व विश्व रेलवे में अपनी पहचान बनाने कि दिशा में है अग्रसर

इस प्रकार आरेडि़का आए दिन अपने उत्पादन क्षमता के साथ.साथ नए प्रकार के डिब्बों का निर्माण करने के श्रृखला को आगे बढ़ाते हुए भारतीय व विश्व रेलवे में अपनी पहचान बनाने कि दिशा में अग्रसर है। कोच उत्पादन की गति का मुल्यांकन करके रेल मंत्रालय ने आरेड़िका को लगातार दूसरे वर्ष भी सर्वश्रेष्ठ उत्पादन इकाई के रूप में चयनित किया है। महाप्रबंधक विनय मोहन श्रीवास्तव ने इस उपलब्धि का श्रेय संपूर्ण आरेड़िका के अधिकारियों कर्मचारियों में संविदा कर्मियों की कड़ी मेहनत को दिया है, जो सभी विभागों के समन्वय से संभव हो सका है। इसके लिए उन्होंने सभी आरेड़िका कर्मचारियों को धन्यवाद दिया है।