कोविड-19 के मरीजों की संख्या में इजाफा होते देख जिला प्रशासन अलर्ट, जिलाधिकारी ने किया औचक निरीक्षण

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

गाजियाबाद। कोविड-19 संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसे गंभीरता से लेते हुए जिला प्रशासन भी पूरी तरह अलर्ट मोड पर आ गया है। जिसके चलते गाजियाबाद के जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे ने जिला संयुक्त अस्पताल संजय नगर का औचक निरीक्षण किया। जैसे ही जिलाधिकारी के पहुंचने की सूचना स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों को मिली तो खुद मुख्य चिकित्सा अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। इस दौरान जिलाधिकारी ने अस्पताल को दोबारा से कोविड-19 सुविधा में परिवर्तित किए जाने के निर्देश दिए। साथ ही सभी बेड पर ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू रूप से संचालित किए जाने के भी निर्देश जारी किए। इसके अलावा ऑक्सीजन की उपलब्धता 24 घंटे सुनिश्चित रखने के भी जिलाधिकारी ने निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: यूपी की एंबुलेंस से जब कोर्ट पहुंचा माफिया डॉन मुख्तार अंसारी, नंबर देखकर उड़े सभी के होश, मचा हड़कंप

दरअसल, एक बार फिर कोविड-19 संक्रमण लोगों को अपनी गिरफ्त में लेना शुरू कर दिया है और लगातार कोविड-19 संघ में मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। जिसके प्रति जिला प्रशासन पूरी तरह सचेत है वहीं स्वास्थ्य विभाग को भी अलर्ट मोड पर रखा गया है। तमाम तरह की योजना पर अब कार्य किया जा रहा है। बुधवार की शाम गाजियाबाद के जिलाधिकारी ने कोविड-19 को फैलने से रोकने के उद्देश्य से और कोविड-19 संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए सभी सुविधाएं उपलब्ध हो, इसे ध्यान में रखते हुए संयुक्त जिला अस्पताल संजय नगर का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने अस्पताल को दोबारा से एल 2 के मरीजों को मिलने वाली सभी सुविधाओं को दिए जाने के तमाम निर्देश दिए।

इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए गाजियाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि कोविड-19 को फैलने से रोकने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह कई तरह की योजनाओं पर कार्य कर रहा है। जिसके लिए जिलाधिकारी द्वारा भी निर्देश जारी किए गए हैं। जिले में वैक्सीनेशन का कार्य भी जोरों पर चल रहा है। इसके अलावा कोविड-19 संक्रमित मरीजों का उपचार ठीक तरह से किया जा सके, इसके लिए जिलाधिकारी ने एक समीक्षा बैठक भी की है। जिसमें तमाम व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी दी गई है। जिलाधिकारी ने संयुक्त जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया है।

यह भी पढ़ें: कोरोना के चलते फिर कड़े हुए नियम, मास्क न पहनने पर होगी सख्त कार्रवाई

उन्होंने बताया कि कोविड-19 संकलन मरीजों के उपचार को ध्यान में रखते हुए 100 बेड की व्यवस्था की गई है। यहां पर जंबो 100 ऑक्सीजन सिलेंडर के अलावा 37 छोटे ऑक्सीजन सिलेंडर भी उपलब्ध है, यानी कि कोविड-19 एल 2 कैटेगरी के मरीजों का उपचार ठीक से किया जा सके। इसके लिए ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू रखने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिए गए हैं। इसके अलावा निजी अस्पतालों के प्रबंधन कमेटी के साथ एक बैठक कर उन्हें भी आगाह किया जाएगा कि यदि आवश्यकता हुई तो अपने यहां भी वह कोविड-19 पर मरीजों का उपचार कर सकें।