भारत में वैक्सीन की कमी हुई दूर, 1 मई को देश में वैक्सीन की खेप देगा ये देश…

देश में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या आये दिन बढ़ती ही जा रही है. ऐसा माना जा रहा है कि कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर की अपेक्षा अधिक तेजी से लोगों को प्रभावित करती हुई दिखाई दे रही है. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर इस समय भारत में बड़ी ही तीव्रता के साथ कहर बरसा रही है. पूरा देश कोरोना के इस महामारी से भयग्रस्त है. देश में कोरोना संक्रमण के कारण स्थिति और गम्भीर होते जा रही है. कोरोना जैसे घातक महामारी से निपटने के लिए बहुत ही अच्छी कहा खबर आई है. तो आइये जानते है उस खबर के बारे में ये खबर रूस देश से आई है.

आपको बता दें कि रुसी डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड प्रमुख किरिल दिमित्रिक ने बताया है कि 1 मई को रूस की वैक्सीन स्पुतनिक वी भारत पहुँचने वाली है. रूस से आने वाला ये स्पुतनिक वी नाम का वैक्सीन भारत के देशवासियों के लिए ब्रम्हास्त्र की तरह उपयोगी साबित होगा. मिली हुई जानकारी के मुताबिक रूस समय से पहले भारत के साथ मिलकर वैक्सीन की एक साल में 850 मिलियन से अधिक डोज के लिए भारत के पांच प्रमुख निर्माताओं के साथ मिलकर समझौते के साथ दस्तखत कर चूका है और आप को बता दें कि वैक्सीन की ग्लोबल मार्केटिंग RDIF ने बताया है कि उम्मीद है कि भारत में वैक्सीन का भारी मात्रा में उत्पादन होगा जो आने वाली गर्मियों तक 50 मिलियन डोज में उपलब्ध होगा.

कोरोना जैसे इस भयावह बीमारी से निपटने के लिए कई और देशो ने भी भारत का सहयोग करने के लिए हाथ बढ़ाये हैं उन देशो का नाम फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन और संयुक्त राष्ट्र अमेरिका है जो इस संघर्षों के समय में भारत के साथ खड़े होकर हौसला बढ़ा रहें हैं. कुछ देशो ने तो भारत को तुरंत ही चिकित्सा सेवा देने का वादा भी कर चूका है. इस समय में सबसे अधिक उपयोगी सिद्ध होगी रूस से आने वाली स्पुतनिक वी वैक्सीन ऐसा इसलिए कहा जा सकता है कि भारत में इस समय कोरोना का कहर अपने चरम सीमा पर पहुंच गया है.