राकेश टिकैत पर हमले के विरोध में भाकियू ने चिल्ला बॉर्डर किया जाम, 24 घंटे का अल्टीमेटम देकर खोला

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
नोएडा. राजस्थान के अलवर में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत की गाड़ी पर कुछ अज्ञात लोगों ने हमला बोल दिया, जिसके विरोध में सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित किसानों ने दिल्ली और यूपी के चिल्ला बॉर्डर को जाम कर दिया। किसान आरोपियों की गिरफ्तारी और राकेश टिकैत को सुरक्षा की मांग की। हालांकि बाद में पुलिस के समझाने पर किसान मान गए और पुलिस को 24 घंटे का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर आरोपियों की गिरफ़्तारी नहीं होती है तो वह फिर नोएडा से लगे दिल्ली के सभी बॉर्डर को जाम कर देंगे।

यह भी पढ़ें- पत्नी को चुनाव लड़ाने के लिए पानी की तरह बहाया पैसा, वोटर लिस्ट में नाम नहीं आने पर एसडीएम के सामने फूट-फूटकर रोया

इस दौरान किसान नेताओं ने आरोप लगाते हुए कहा कि राजस्थान के अलवर में किसान नेता राकेश टिकैत के ऊपर हुआ हमला बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने किया है। आरोपियों गिरफ्तारी और कार्रवाई नहीं होने पर बॉर्डर को जाम किया गया। हालांकि पुलिस के अनुरोध और आम जनता की परेशानी को देखते हुए फिलहाल जाम खोल दिया गया है। लेकिन, 24 घंटे के अंदर आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं करती है और टिकैत को जेड प्लस सुरक्षा नहीं देती है तो फिर हम दिल्ली के सारे रास्ते जाम कर देंगे। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर टिकैत को कुछ भी होता है तो उसकी जिम्मेदारी बीजेपी सरकार होगी। हम पूरे भारत मे हाहाकार मचा देंगे।

बता दें कि चिल्ला बॉर्डर के जाम होने की सूचना मिलते ही तमाम पुलिस अधिकारी और कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पंहुच गई थी। स्थिति को संभालते हुए अधिकारियों के समझाने पर किसानों ने अपना प्रदर्शन 24 घंटे के लिए रोक दिया। पुलिस का कहना है किसानों की मांगों को सक्षम अधिकारियो तक पंहुचाएंगे। ये प्रदर्शन भारतीय किसान यूनियन जिला अध्यक्ष अनीत कसाना और भाकियू नेता पवन खटाना के नेतृत्व में किया गया।

यह भी पढ़ें- अजय लल्लू ने कहा - असंवेदनशील सरकार के लिए गरीबों के जान की कोई कीमत नहीं