नीले रंग का होता है 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों आधार कार्ड, जानें- बाल आधार कार्ड बनवाने की पूरी प्रोसेस

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
सुलतानपुर. आधार कार्ड (Aadhar Card) सभी के लिए जरूरी दस्तावेज और लोगों की पहचान का मजबूत आधार है। वर्तमान समय में बिना आधार कार्ड के कोई भी काम होना मुश्किल है, यानी हर जगह आधार कार्ड की जरूरत होती है। बड़ों की तरह बच्चों का भी आधार कार्ड (Baal Aadhar Card) बेहद जरूरी होता है। 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का बनने वाला आधार कार्ड नीले रंग का होता है। पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों का आधार कार्ड इस बारे में सुलतानपुर संवाददाता से बात की जिले के प्रधान डाकघर (Post Office) के पोस्टमास्टर अनिल कुमार से। उन्होंने बताया कि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के निर्देश पर नीले रंग का यह आधार कार्ड केवल 5 साल से कम आयु वर्ग के बच्चों के लिए बनाया जाता है।

5 साल का बच्चा होने पर अमान्य होगा आधार कार्ड
पोस्टमास्टर अनिल कुमार ने बताया कि 5 साल से कम आयु वर्ग वाले बच्चों का बनने वाला विशिष्ट रूप-रंगवाला आधार कार्ड (Aadhar Card) बच्चे के पांच साल पूरा होने तक ही मान्य होगा। आधार कार्ड अमान्य होने की स्थिति में आधार कार्ड बनने वाले केंद्र पर जाकर उसी आधार कार्ड की संख्या से बच्चों का बायोमेट्रिक डिटेल रजिस्टर्ड कराना होता है।

यह भी पढ़ें : बच्चों का भी जरूरी है आधार कार्ड, 5 वर्ष तक की उम्र के बच्चों का ऐसे बनवाएं Aadhar Card


ऐसे बनवाएं बाल आधार कार्ड
हेड पोस्टमास्टर ने बताया कि 5 साल से कम आयु वाले बच्चे का बाल आधार कार्ड (Baal Aadhar Card) बनवाने के लिए सेंटर पर जाकर फॉर्म पर उसके माता पिता में से किसी एक का जन्म प्रमाण पत्र लगवाना पड़ेगा और वहीं सेंटर पर आधार कार्ड बनवाने वाले बच्चे की फ़ोटो खींची जाएगी और वही फोटो उसके बाल आधार कार्ड में लगाई जाएगी। इतना ही नहीं है, बाल आधार कार्ड को बच्चे के माता- पिता में किसी एक के आधार कार्ड से लिंक किया जाएगा। जहां कहीं भी बच्चे के पहचान की जरूरत होगी, वहां उसके माता पिता साथ जाएंगे। हालांकि, जैसे ही बच्चे की उम्र पांच वर्ष के पार होती है, उसे सामान्य आधार कार्ड जारी कर दिया जाएगा। इसमें सभी बायोमैट्रिक डिटेल्स होंगी। नीले रंग के इस आधार कार्ड में किसी भी प्रकार की बायोमैट्रिक डिटेल्स नहीं देनी होगी।

बच्चे की बायोमेट्रिक डिटेल की जरूरत नहीं
पोस्टमास्टर अनिल कुमार ने बताया कि बाल आधार कार्ड (Baal Aadhaar Card) में बच्चे की बायोमेट्रिक डिटेल नहीं ली जाती है। इसके लिए केवल माता-पिता में से किसी एक मोबाइल नंबर रजिस्टर कराना होगा। वेरिफिकेशन और रजिस्ट्रेशन का कंफर्मेशन मैसेज जो नंबर आधार कार्ड बनवाने के दौरान दिया गया होगा, उस पर आएगा। कंफर्मेशन मैसेज मिलने के दो माह के भीतर रजिस्टर्ड पते पर बाल आधार कार्ड पहुंच जाएगा।

यह भी पढ़ें : बेहद जरूरी है मृत्यु प्रमाण पत्र, बिना इसके मृतक आश्रितों को नहीं मिलेंगे ये लाभ