वाराणसी-प्रतापगढ़ समेत इन शहरों के लिए पांच अप्रैल से शुरू हो रही 71 अनारक्षित ट्रेनें, बिना रिजर्वेशन कर सकेंगे सफर

वाराणसी. रेलवे ने बड़ी संख्या में सोमवार पांच अप्रैल से अनारक्षित ट्रेन को पटरी पर उतारने का फैसला किया है। इससे पूर्वांचल समेत प्रदेश के अन्य शहरों की राह आसान होगी। उत्तरी रेलवे की तरफ से कुल 71 अनारक्षित मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों की सूची जारी की गई है। यह ट्रेनें वाराणसी-प्रतापगढ़ समेत यूपी के अन्य शहरों के लिए चलेंगी। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है।

रेल मंत्रालय ने ट्वीट किया, 'रेलवे भारतीय रेल यात्री सुविधाओं में बढ़ोतरी करते हुए 5 अप्रैल से 71 अनारक्षित ट्रेन सेवाएं आरंभ करने जा रहा है। ये ट्रेनें यात्रियों के सुरक्षित और आरामदायक सफर को सुनिश्चित करेंगी।'

इन शहरों के लिए होगी अनारक्षित ट्रेन

अनारक्षित ट्रेन पूर्वांचल के साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए चलेगी। यह ट्रेन वाराणसी-प्रतापगढ़ के लिए चलने के साथ-साथ फिरोजपुर कैंट-लुधियाना, फजिल्का-लुधियाना, सहारनपुर-नई दिल्ली, गाजियाबाद-पानीपत, शाहजहांपुर-सीतापुर, गाजियाबाद-मुरादाबाद समेत कई शहरों के लिए चलेगी।

पांच अप्रैल से सुल्तानपुर-वाराणसी के लिए ट्रेन

सोमवार से सुल्तानपुर-वाराणसी के लिए भी ट्रेन सेवा शुरू हो जाएगी। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सुल्तानपुर से वाराणसी के लिए पैसेंजर ट्रेनों को बंद कर दिया गया था, अब इन्हें बहाल किया जाएगा। रेलवे प्रशासन ने पांच अप्रैल से सुल्तानपुर - वाराणसी रूट पर गाड़ी संख्या 04263 चलाने की हरी झंडी दे दी है, जो सुल्तानपुर से 6:35 बजे वाराणसी के लिए रवाना होगी। रेलवे स्टेशन श्री कृष्णा नगर पर 7:48 बजे पहुंचेगी। इसके बाद पुन: अगले स्टेशन के लिए रवाना होगी।

गौरतलब है कि कोविड -19 के कारण साल भर से सुल्तानपुर से वाराणसी चलने वाली सभी ट्रेनों को बंद कर दिया गया था, जिससे यात्रियों के सामने सुल्तानपुर और वाराणसी सहित अन्य स्थानों पर आवागमन करने में दिक्कत होती थी। वे अपने निजी साधनों सहित प्राइवेट वाहनों और रोडवेज बसों के सहारे आवागमन कर रहे थे। लेकिन ट्रेन के बहाल होने से यह समस्या दूर होगी और आम जीवन पटरी पर लौटेगा।

ये भी पढ़ें: दो हिस्सों में बंटी सप्तक्रांति एक्सप्रेस, यात्रियों में मची अफरातफरी, लगाया लापरवाही का आरोप