8 km दूर जाना पड़ता है वोट डालने, काले झंडे लेकर ग्रामीण बोले- पंचायत चुनाव का करेंगे बहिष्कार

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

रामपुर। पट्टीकलां गांव के मझरा अलीगंज व कुंदनपुर के ग्रामीणों ने शनिवार को प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर पंचायत चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी दी है। ग्रामीणों का कहना है कि अलीगंज और कुंदनपुर गांव के ग्रामीणों को वोट डालने के लिए गांव से आठ किमी दूर जाना पड़ता है, जबकि महिलाओं व बुजुर्गों को वोट डालने के लिए गांव से जाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने लोकसभा व विधानसभा चुनाव में ग्रामीणों ने अपने ही गांव में पहली बार मतदान किया था तब ग्रामीणों की खुशी का ठिकाना नहीं था।

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनाव में किया ऐसा काम तो जीवन भर नहीं लड़ पाएंगे Election, सीधे जेल भेजेगी पुलिस

ग्रमीणों का कहना है कि बड़ी मुश्किल और गांव वालों की लाख कोशिशों के बाद पोलिंग बूथ गांव के स्कूल में बना था। बीते 9 अगस्त 2019 को गांव के लोगों ने निर्वाचन आयोग सहित उच्चाधिकारियों से पंचायत चुनाव में भी गांव के ही स्कूल में पोलिंग बूथ बनाने की मांग की थी। ग्रामीणों की मांग और समस्या को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने राजस्व विभाग की टीम से जांच कर कार्यवाई कराने का आश्वासन दिया था। जिसके बाद पंचायत चुनाव का पोलिंग बूथ भी गांव के स्कूल में बना दिया गया था और सूची भी जारी कर दी गई थी लेकिन दो दिन के बाद ही अलीगंज से पोलिंग बूथ हटा दिया गया।

यह भी पढ़ें: इस बड़े बसपा नेता ने ब्यूटी पार्लर संचालिका को घर बुलाकर की गंदी बात तो चप्पल से जमकर पीटा

जब इसकी की जानकारी जब ग्रामीणों को हुई तब रोष फैल गया। शनिवार को सड़क पर उतरे ग्रामीणों ने काले कपड़े हाथ में लेकर पंचायत चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी दी है। ग्रामीणों का कहना है कि गांव में पोलिंग बूथ नहीं तो वोट नहीं। उधर, इस मामले में एसडीएम टांडा का कहना है कि इनकी समस्या को लेकर वरिष्ठ असफरों को अवगत कराया जाएगा है। इनकी समस्या का किया समाधान होगा और इसके लिए आगे सोचा जायेगा।