AIMIM की मटन पार्टी में पुलिस का तांडव, दो वाहन किये क्षत्रिग्रस्त, घर में घुसकर महिलाओं से अभद्र व्यवहार का आरोप

पत्रिका न्यूूज नेटवर्क
आजमगढ़. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मटन पार्टी पर पुलिस की नजर टेढ़ी हो गयी है। शुक्रवार की रात जहां पुलिस ने जहानागंज थाना क्षेत्र के गोधौरा गांव में छापेमारी कर पूर्व प्रधान और उसके भाई को गिरफ्तार किया वहीं फूलपुर कोतवाली पुलिस ने चमावां मुंडवर गांव में मीट पार्टी में पहुंचकर जमकर तोड़फोड़ किया। यहां पुलिस ने कई वाहन क्षतिग्रस्त कर दिये तो आधा दर्जन लोगों को पकड़कर थाने ले आयी। पुलिस कार्रवाई को कुछ लोगों ने फेसबुक पर लाइव कर कोतवाल पर नशे में धुत्त होने व महिलाओं के साथ मारपीट एवं अभद्र व्यवहार का आरोप लगाया। इससे नाराज एआईएमआईएम के पदाधिकारियों ने फूलपुर कोतवाली का घेराव किया। लाइव वीडियो में कोतवाल पान खाने की बात कहते बैकफुट पर दिख रहे हैं।

फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के चमावां मुंडवर गांव में शुक्रवार की रात छह युवक गांव के ही इरफान के घर के बाहरी हिस्से में मटन की पार्टी कर रहे थे। उसी दौरान फूलपुर कोतवाल रत्नेश सिंह फोर्स के साथ वहां पहुंचे और चूल्हे पर चढ़े भगोने को पलट दिया। पुलिस ने तोड़फोेड़ के साथ ही वहां मौजूद युवाओं की पिटाई शुरू कर दी। यही नहीं पुलिस ने इरफान के घर में खड़े दो व चार पहिया वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। आरोप लगाया कि पुलिस ने घर में घुसकर महिलाओं और बच्चों को मारापीटा उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। पुलिस छह युवकों को लेकर कोतवाली चली गयी।

घटना की जानकारी होने पर देर रात एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली मौके पर पहुंच गए और पुलिसिया तांडव का वीडियो फेसबुक पर लाइव कर दिया। इसके बाद वे समर्थकों के साथ कोतवाली पहुंचे। वायरल वीडियो में एआईएमआईएम के पदाधिकारियों ने कोतवाल पर शराब के नशे में होने का आरोप लगाते हुए डीजीपी से शिकायत करने की बात कही तो कोतवाल पान खाने की बात कहते हुए अपना बचाव करते दिखे। कोतवाली में घंटों तक दोनों पक्षों में बहस हुई। इसके बाद हिरासत में लिए गए युवकोें को छोड़ दिया गया।

केतवाल का कहना है कि जिले में धारा 144 लागू है। मुंडवर में मो. राशिद पुत्र अबू तालिब आदि कई लोग एकत्रित होकर पार्टी कर रहे थे। मौके से छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। अन्य 25 लोग मौके से भाग गए। उक्त लोगों के विरुद्ध धारा 188 भादवि के तहत कार्रवाई की गई है। वहीं एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली का कहना है कि आचार संहिता के नाम पर पुलिस ने नंगा नाच किया है। पांच सात बच्चे अपने घर पर मीट बना रहे थे। पुलिस वहां पहुंची और बच्चों महिलाओं सबको पीटा। वाहन क्षतिग्रस्त कर दिया। कोतवाल ने यह कार्रवाई नशे में धुत्त होकर की है। इसकी शिकायत उच्चधिकारियोें से कर दी गयी है। कार्रवाई न होने पर आगे की रणनीति तय की जाएगी।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह पुलिस का बचाव करते नजर आये। उन्होंने बताया कि चुनाव चल रहा है ऐसे में पार्टी आयोजित करना करना गलत है। पुलिस ने पार्टी आयोजित करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की। किसी तरह की तोड़फोड़ नहीं हुई है। पार्टी कर रहे लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गयी है। कोतवाल नशे में होता तो वहां कार्रवाई करने कैसे जाता। चुनाव आचार संहिता का पालन कराया गया है, आगे भी ऐसी कार्रवाई जारी रहेगी।

BY Ran vijay singh