ढाई फीट के अजीम मंसूरी को आखिरकार मिल गई दुल्हन, बोला- शादी होते ही सबसे पहले करूंगा ये काम

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

शामली। कैराना निवासी ढाई फीट कद वाले अजीम मंसूरी को आखिर दुल्हन मिल ही गई। अजीम के परिजनों ने हापुड़ पहुंच कर उसके कद वाली लड़की से उसकी सगाई पक्की कर दी है। अगले साल शादी होने की उम्मीद है। सगाई होने पर अजीम ने कहा कि वह शादी होने के बाद अपनी दुल्हन को लेकर सबसे पहले हज करने जाएंगे। दरअसल, जनपद शामली के कैराना नगर के मोहल्ला जोड़वा कुआं निवासी 27 साल के अजीम मंसूरी की शादी इसलिए नहीं हो पा रही थी कि उसका कद 2 फीट 6 इंच ही है। धीरे-धीरे जैसे ही अजीम मंसूरी जवान होता गया तभी अजीम मंसूरी के दिल में भी शादी करने की आस जगी और करीब एक महीना पहले वह शामली महिला थाने पहुंच गया और पुलिस से अपनी शादी कराने की गुहार लगाई।

यह भी पढ़ें: महिला थाने पहुंचकर शादी की गुहार लगाने अजीम को आई 'सलमान खान' की कॉल, जानिए क्या मिला प्रस्ताव

बता दें कि इससे पहले अजीम मंसूरी उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एवं उनके पिता मुलायम सिंह यादव से मिलकर भी शादी कराने की मांग कर चुके हैं। जैसे ही उन्होंने महिला थाने पहुंचकर शादी कराने की गुहार लगाई, तभी सोशल मीडिया पर वह एक सेलिब्रिटी बनकर उभर गए। सोशल मीडिया पर छाने के बाद दिल्ली, गाजियाबाद व गजरौला सहित अन्य जगहों से उनके रिश्ते आने शुरू हो गए और एक से बढ़कर एक लड़कियों ने उसको सोशल मीडिया पर प्रपोज भी किया। इसी दौरान हापुड़ निवासी एक व्यक्ति ने उनके पिता हाजी नसीम मंसूरी से संपर्क किया और अजीम के कद की अपनी 27 वर्षीय लड़की से अजीम की शादी कराने का प्रस्ताव रखा।

यह भी पढ़ें: दो मासूम बच्चों की हत्या कर रातभर शवों के पास ही बैठ रोती-बिलखती रही मां

बताया गया है कि अजीम की होने वाली दुल्हन बीकॉम फर्स्ट ईयर की पढ़ाई कर रही है और कुरान शरीफ की पढ़ाई पूरी कर चुकी है। वहीं लड़की के परिजनों की ओर से शादी का प्रस्ताव आने के बाद बुधवार को अजीम के पिता व उनकी मां हापुड़ पहुंचे और उनकी होने वाली दुल्हन को देखा तथा उसकी सगाई पक्की कर दी। अजीम के चाचा निसार मंसूरी ने बताया कि फिलहाल सगाई पक्की हो गई है। करीब 1 साल बाद शादी करा दी जाएगी। उधर, अजीम मंसूरी की सगाई की खबर सुनने के बाद सोशल मीडिया पर उनके चाहने वाले उनको बधाई दे रहे हैं। अजीम ने कहा कि वह अब बहुत खुश हैं और शादी न होने की वजह से भूख हड़ताल नहीं करेंगे। शादी होने के बाद वह अपनी दुल्हन को लेकर मक्का मदीना में हज करने के लिए जाएंगे।