दो अवैध शस्त्र फैक्ट्री का भंडाफोड़, चार अभियुक्त गिरफ्तार, भारी मात्रा में तमंचे और कारतूस भी बरामद

सीतापुर. पंचायत चुनाव से पहले सीतापुर पुलिस ने अवैध शस्त्र बनाने वाली असलहा फैक्ट्री का भंडाफोड़ करने का दावा किया है। पुलिस ने गांव और नदी किनारे चल रही दो अवैध शस्त्र फैक्ट्रियों में छापेमारी की कार्रवाई करते हुए चार अभियुक्तों को असलहों का निर्माण करते हुए गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों के पास से एक दर्जन से अधिक निर्मित और अर्ध निर्मित असलहे और बंदूक बरामद हुए है। पुलिस का कहना है कि फैक्ट्री को संचालित कर रहे अन्य सदस्यों की भी तलाश की जा रही है जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर इस अवैध कारोबार पर लगाम लगाया जाएगा। पुलिस का कहना है कि छापेमारी के दौरान कुछ जिंदा कारतूस भी बरामद हुए है।

 

शस्त्र फैक्ट्रियों का भांडाफोड़

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के नजदीक आते ही अवैध शस्त्र का कारोबार धड़ल्ले से गांव में फलने फूलने लगता है। इसी कड़ी में अवैध कारोबार पर लगाम लगाने के लिए पुलिस ने अवैध शस्त्र फैक्ट्री के खिलाफ एक अभियान चला रखा है। इस अभियान के तहत लहरपुर कोतवाली पुलिस और रामपुर मथुरा पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार पर बाहर खेतों में छापा मारकर दो शस्त्र फैक्ट्रियों का भांडाफोड़ करने का दावा किया है। पुलिस का कहना है कि इस छापेमारी के दौरान मौके से करनापुर निवासी रामसमुच,रामकिशोर और शरीफपुर निवासी मायाराम,को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने उनके कब्जे से एक दर्जन से अधिक अवैध तमंचे और बंदूक भी बरामद किये है। पुलिस का कहना है कि अवैध तमंचे के निर्माण में प्रयुक्त होने वाली सामग्री और लोहे की नाल सहित अन्य उपकरण भी बरामद हुए हैं। पुलिस का कहना है कि छापेमारी के दौरान कुछ जिंदा कारतूस भी बरामद हुए हैं जिन्हें शस्त्रों को तैयार करने के बाद ट्रायल करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है। पुलिस का कहना है यह गिरफ्तार चारों अभियुक्त लहरपुर और रामपुर मथुरा इलाके के ही निवासी हैं और इनसे कड़ाई से पूछताछ करके गिरोह के अन्य सदस्यों का भी जल्द ही पता लगाया जा रहा है।