डॉ. कफील ने सीएम योगी को लिखा पत्र, कोरोना महामारी में देश के नागरिकों की सेवा का मौका दें, चाहें तो फिर कर दें निलंबित

गोरखपुर. Dr. Kafeel Khan letter to CM Yogi. बीआरडी मेडिकल कॉलेज (BRD Medical College) में ऑक्सीजन कांड मामले में निलंबित डॉक्टर कफील खान ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर कोरोना काल में अपनी रिहाई को रद्द करने की मांग की है। डॉ. कफील ने कहा है कि उनका 15 वर्षों का आईसीयू का अनुभव इस समय कोरोना को लेकर मची त्राहि में मरीजों को लेकर काम सकता है। डॉ. कफील ने मुख्यमंत्री योगी से निवेदन किया है कि मरीजों की सेवा के लिए उनका निलंबन वापस लिया जाए, ताकि वे कुछ लोगों की जान बचा सकें। इसके बाद चाहें तो महामारी के खात्मे के बाद उन्हें पुन: निलंबित कर दें। डॉ. कफील ने अपने पत्र में अपनी रिहाई को लेकर दलील भी दी है।

यह दी दलील

डॉ. कफील ने अपने पत्र में पूर्व प्रिंसिपल डॉ. राजेश मिश्रा और मेंटेनेंस प्रभारी डॉ. सतीश कुमार का जिक्र करते हुए कहा है कि विभागीय कार्रवाई के बावजूद उनकी सेवा को बहाल किया गया है। जबकि 36 बार पत्र लिखने के बाद भी विभागीय अधिकारियों द्वारा उनका निलंबन वापस नहीं लिया जा रहा है। डॉ. कफील ने इलाहाबाद हाईकोर्ट का भी जिक्र किया है। उनका कहना है कि कोर्ट ने उनके ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों से उन्हें मुक्त कर दिया है और 90 दिनों के निलंबन वापसी पर विचार के लिए कहा था। अब तक 1300 दिन बीत चुके हैं लेकिन इसके बाद भी उनका निलंबन वापस नहीं लिया जा रहा है। मै किसी अन्य हॉस्पिटल या व्यवसाय में काम नहीं कर रहा हूं। मैं दिल से इस महामारी में अपने देश के नागरिकों की सेवा करना चाहता हूं।

ये भी पढ़ें: कोविड मरीज बताकर जबरन किया भर्ती, रोते हुए मरीज ने कहा 'मुझे अस्पताल से निकाल लो, यह मुझे मार देंगे', अगले ही पल मौत

ये भी पढ़ें: कोरोना को मात देकर डिस्चार्ज होने वाले मरीजों को लेकर नई गाइडलाइन, गंभीर रोगी की श्रेणी में आएंगे ऐसे लोग