पश्चिम बंगाल में बढ़ते कोरोना के कहर को देखते हुए निर्वाचन आयोग ने जारी किया नई गाइडलाइन

पश्चिम बंगाल में चुनाव की तैयारी में बहुत ही तेजी दिख रही थी. लेकिन बढ़ते हुए कोरोना के कहर की वजह से सबकुछ उथल-पुथल सा होता नजर आ रहा है. अबतक जिन लोगों का ध्यान चुनाव के प्रति बहुत ही ज्यादा था वो कोरोना के कहर ने अपने ओर खींच लिया है. कोरोना से बचने के लिए हर जगह पाबंदियां लगा दी गई हैं. बढ़ते हुए कोरोना के कहर को रोकने के लिए देश के कई राज्यों में लॉकडाउन लगा दी गई है. इसी वजह से अब निर्वाचन आयोग की ओर से बीते शनिवार को कई पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई है.

राज्य में बढ़ते हुए कोरोना के मामलों पर गंभीरता के साथ बात की गई और फिर बैठक में सख्त निर्देश भी जारी किये गये. आपको बता दें कि मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा और चुनाव आयुक्त राजीव कुमार की ओर से साफ तौर पर बताया गया कि चुनाव के समय कोरोना के लिए जारी गाइडलाइन का पालन करना बहुत ही आवश्यक है. वहीं उन्होंने ने नियमों का पालन न करने वालों के लिए राष्ट्रीय महामारी अधिनियम के अनुसार सख्त कार्यवाई का आदेश दियें हैं.

आगे निर्वाचन आयोग की ओर से विशेष दिशा निर्देश दियें गयें हैं कि चुनावी प्रचार के समय कोरोना से बचाव के लिए हर तरह के जारी गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन किया जाना चाहिए. उनका कहना है कि राज्य में कोरोना का भयावह कहर बरस रहा है ऐसे में हमें मतदान अधिकारी की ओर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है. आप को बता दें कि पश्चिम बंगाल चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने जो सख्ती बरती है उसके मुताबिक मतदान अधिकारी और पूरी पोलिंग पार्टी को कोरोना महामारी के कारण फेसमास्क, फसेशील्ड, हैंड सैनिटाइजर, पीपीई किट्स से पूरी तरह लैस रखा जायेगा. आवश्यकता के अनुसार सभी जरूरी सामानों को राज्य में पहुँचाया गया है और सभी मतदान अधिकारीयों को इसका उपयोग करने के लिए निवेदन भी किया गया है.