लोगों की थाली से गायब हुई दाल, तीन महीने में आसामन पर पहुंचे दाम, जानें ताजा रेट

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. पिछले करीब तीन महीने से अरहर दाल का भाव बढ़ता ही जा रहा है। फुटकर बाजार में पुखराज अरहर दाल की बात करें तो उसके दाम सौ के पार हैं। वहीं थोक में 9,850 रुपये प्रति क्विंटल यानी दूसरी वैरायटी भी सौ के करीब पहुंच चुकी हैं। सूरजमुखी, डायमंड, माधुरी समेत अरहर के सभी ब्रांड की कीमतों में काफी उछाल आया है। ऐसे में यही हाल रहा तो गरीबों की थाली से दाल यानी प्रोटीन गायब ही हो जाएगी। आयात रुकने और स्टॉक बैलेंस शून्य होने का असर दलहन मंडी में साफ तौर पर दिख रहा है। हालत यह है कि आमजनों को थाली में मिलने वाली प्रोटीन धीरे-धीरे कम होती जा रही है।

 

यूपी की फसल का इंतजार

दरअसल दाल की मंडी को अब उत्तर प्रदेश की फसलों का इंतजार है। इस बार महाराष्ट्र, कर्नाटक, एमपी में करीब तीस फीसदी दाल की फसल कम रही है। यही कारण है कि अरहर दाल के दाम लगातार ऊपर चढ़ रहे हैं। लगभग तीन महीने में अरहर की दाल के दाम 90 रुपये तक पहुंच गए हैं। वहीं अब फिर से इसकी कीमतों ने रफ्तार पकड़ी है।

 

कुछ दिनों तक रहेगा यही भाव

दाल व्यापारियों की आगर बात करें तो इस बार फसल कम है। कर्नाटक, महाराष्ट्र और एमपी की फसल आ चुकी है। यूपी की फसल आ रही है। इस महीने के आखिर तक ही कीमतों में राहत मिल सकती है। व्यारपारियों का कहना है कि दाल की सभी कैटेगरी की कीमतों में तेजी बरकरार है। थोक मंडी में अरहर दाल का भाव 9,700 से 9,850 रुपये प्रति क्विंटल के आस-पास चल रहा है। स्टॉक स्टोरेज जीरो है। यही वजह है कि दाल के दाम करीब तीन महीने से घटने का नाम नहीं ले रहे हैं। वहीं पिछले तीन महीने में फुटकर मंडी में अरहर दाल 102 से 105 रुपये प्रति किलो के रेट के बीच चल रही है। प्रीमीयम क्वालिटी हो या फिर मध्यम और छिलका दाल सभी के दामों में तेजी बनी हुई है। अभी पंद्रह बीस दिन तक भाव घटना मुश्किल ही है।

 

यह भी पढ़ें: सिर्फ 9 रुपए में मिलेगा घरेलू LPG गैस सिलेंडर, 30 अप्रैल से पहले करें बुक