दो हिस्सों में बंटी सप्तक्रांति एक्सप्रेस, यात्रियों में मची अफरातफरी, लगाया लापरवाही का आरोप

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के पास शुक्रवार देर रात बड़ा रेल हादसा हुआ। हालांकि, हादसे में किसी की जान नहीं गई इससे संबंधित अफसरों की लापरवाही पर सवाल खड़े हो गए हैं। दरअसल, आनंद विहार से मुज्जफरपुर जा रही सप्तक्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस 02558दो हिस्सों में बंट गई। यह घटना ट्रेन के लखनऊ आने से पहले की है। इससे यात्री व अधिकारियों में हड़कंप मच गया। गार्ड की सूचना पर करीब एक किलोमीटर आधी ट्रेन लेकर आगे निकल चुके ड्राइवर ने ट्रेन रोकी। तेज झटके के साथ ट्रेन अचानक रुकी तो यात्रियों में अफरातफरी मच गई। देर रात तक ट्रेन की कपलिंग को जोड़ने का काम चलता रहा।

ट्रेन में थी सामान्य कपलिंग

उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल के मंडल रेल प्रबंधक संजय त्रिपाठी ने पूरी घटना के जांच के निर्देश दिए हैं। रेलवे अफसरों के मुताबिक सप्तक्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस रात 10:45 बजे लखनऊ आती है। 10 मिनट ठहराव के बाद बिहार के मुजफ्फरपुर रवाना हो जाती है। परिचालन से जुड़े अधिकारियों ने कहा कि रात 9:42 बजे के आसपास सप्तक्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस के दो कोचों को जोड़ने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कपलिंग काकोरी पार होते ही खुल गई। जबकि ट्रेन में सामान्य कपलिंग लगी हुई थी।

लापरवाही का लगा आरोप

सप्तक्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन के साथ इस हादसे कारण ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों को भी परेशानी उठानी पड़ी। हालांकि, हादसे में कोई चोटिल नहीं हुआ लेकिन इससे समय का काफी नुकसान हुआ। यात्रियों ने आरोप लगाया कि ट्रेन चलने से पहले अगर कोचों को जोड़ने में इस्तेमाल होने वाली कपलिंग की जांच कर ली जाती तो यह घटना न होती।

ये भी पढ़ें: गाड़ियों में लगे एक्सपायर्ड सिलेंडर बनते हैं हादसे की वजह, हाइड्रोलिक टेस्ट न कराने पर होता है नुकसान

ये भी पढ़ें: हवा में उड़ रहे प्लेन का इमरजेंसी गेट खोलने लगा यात्री, सीआइएसएफ ने लिया हिरासत में